For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    लॉकडाउन खुलने के बाद भी नहीं होगी बॉलीवुड की राह आसान, डर का माहौल-फिल्म इंडस्ट्री का हाल- Detail!

    |

    कोरोना वायरस के चलते फिलहाल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 19 दिनों का लॉकडाउन आगे बढ़ा दिया है। 3 मई के बाद लॉकडाउन बढ़ेगा या खुलेगा इसके बारे में फिर आगे पता चलेगा। खैर कोरोना का कहर भारतीय अर्थव्यवस्था के साथ साथ मनोरंजन जगत पर भी खासा पड़ा है। फिल्म इंडस्ट्री को अब तक करोड़ों का चुना लग चुका है और अभी भी जारी है। लेकिन कुछ लोगों को अगर लगता है कि लॉकडाउन खुलते ही सब सामान्य हो जाएगा तो ये कहना बहुत ही जल्दबाजी होगी।

    अक्षय कुमार ने रिजेक्ट कर दी थी 'गंगाजल', फिर अजय देवगन बने सुपरहिट कॉप- ताबड़तोड़ एक्शनअक्षय कुमार ने रिजेक्ट कर दी थी 'गंगाजल', फिर अजय देवगन बने सुपरहिट कॉप- ताबड़तोड़ एक्शन

    कोरोना वायरस का प्रकोप थमने के बजाय लगातार बढ़ता जा रहा है। मार्च के बाद अप्रैल और अब लगता है कि मई में भी फिल्में रिलीज होने से रोक दी जाएंगी। अभी तक सूर्यवंशी, 83 और गुंजन सक्सेना की बायोपिक समेत ढेरों फिल्में पोस्टपोन कर दी गई है। जिनका फिलहाल कुछ अता पता नहीं है कि कब रिलीज होंगी।

    फिल्में तो तब रिलीज होंगी न, जब हालात सामान्य होंगे। जी हां, फिलहाल तो लॉकडाउन है इसके चलते तमाम सिनेमाघर बंद हैं लेकिन क्या लॉकडाउन खुल जाएगा तो फिल्म इंडस्ट्री बहाल हो पाएगी? ये सवाल फिलहाल गूंज रहा है। लेकिन जवाब तो फिलहाल यही नजर आता है कि बॉलीवुड की राह आसान नहीं होने वाली है।

    लॉकडाउन खुल भी गया तो क्या फिल्म इंडस्ट्री करोड़ों के नुकसान से उभर पाएंगी?

    लॉकडाउन खुल भी गया तो क्या फिल्म इंडस्ट्री करोड़ों के नुकसान से उभर पाएंगी?

    अगर लॉकडाउन मानो 3 मई को खुल भी जाता है तो फिल्म इंडस्ट्री की मुसीबत दूर हो जाए, ऐसा कहा नहीं जा सकता। ऐसा इसीलिए क्योंकि सिनेमाघर अगर खोल भी दिए जाते हैं तो क्या लोग फिल्म देखने जाएंगे? इसका जवाब फिलहाल की गंभीर स्थिति को देखते हुए तो न ही होगा। दरअसल चाइना में जब कोरोना का प्रकोप कम दिखा तो वुहान शहर के कई सिनेमाघर खोले गए लेकिन इसका परिणाम ये रहा कि थिएटर्स खाली नजर आए। ऐसा होना लाजिमी है, क्योंकि कोरोना के खौफ से लोग तुरंत घर से बाहर निकलने में हिचकाएंगे।

    लॉकडाउन खुलने का मतलब और फिल्मों पर असर

    लॉकडाउन खुलने का मतलब और फिल्मों पर असर


    वहीं लॉकडाउन खुलने का मतलब ये कतई नहीं होगा कि कोरोना खत्म हो गया है। ऐसे में लोग केवल जरूरी चीजों व काम धंधे के लिए ही बाहर निकलेंगे। हो सकता है कि लोग फिल्में देखने जैसे चीजों से परहेज करें।

    कब तक झेलना पड़ सकता है नुकसान

    कब तक झेलना पड़ सकता है नुकसान

    लॉकडाउन कई चरणों में खुलेगा, हो सकता है कि आगे चलकर सिर्फ जरूरी काम धंधो के लिए ही लॉकडाउन खोला जाए और बाकि चीजों के लिए इसे बढ़ा दिया जाए। जैसा कि हाल में ही पीएम मोदी ने संबोधन में कहा कि किसानों व फसलों के लिए कम खतरे वाले स्थानों पर छूट दी जाएगी। तो ऐसा संभव है कि गर्मियां बीत जाए और फिल्म इंडस्ट्री नुकसान में ही रहे।

    फिल्म जगत व बॉलीवुड के लिए राह आसान नहीं

    फिल्म जगत व बॉलीवुड के लिए राह आसान नहीं

    कुल मिलाकर कहा जा सकता है कि फिलहाल फिल्म जगत व बॉलीवुड के लिए राह आसान नहीं नजर आ रही है। करोड़ों की चपत के बाद भी ये खतरा लगातार बना दिख रहा है। जैसे दिसंबर में चीन में कोरोना के केस सामने आए थे उसके पांच महीने बीत जाने के बाद भी वहां स्थिति सामान्य होती नजर नहीं आ रही है। हो सकता है कि भारत में भी हालात पर काबू पाने में समय लगेगा जैसा कि विश्व में हो रहा है।

    English summary
    Lockdown 2 bollywood face crore Rs loss and film industry situation details reports
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X