For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    कहानी की Band: सलमान को हो जाती जेल.. नहीं बनते 'बजरंगी भाईजान'!

    By Neeti
    |

    [कहानी की बैंड] सलमान खान की ताजा रिलीज फिल्म 'बजरंगी भाईजान' ब्लॉकबस्टर साबित हो चुकी है। कबीर खान के निर्देशन में बनी इस फिल्म को दर्शकों के साथ साथ समीक्षकों का भी खूब प्यार मिला। बॉक्स ऑफिस पर तो फिल्म ने धमाल ही कर दिया।

    लेकिन क्या आपको पता है कि सलमान इस फिल्म के लिए पहली च्वॉइस नहीं थे। जी हां, सलमान खान से पहले कबीर खान ने आमिर खान और ऋतिक रोशन से भी इस किरदार के लिए संपर्क किया था। खैर, हमें नहीं लगता कि कोई और फिल्म को इस ऊंचाई तक पहुंचा सकता था।

    बहरहाल, क्या आपने कभी सोचा है कि यदि आमिर खान होते पवन कुमार चतुर्वेदी तो फिल्म में क्या होता? नहीं न..तो फिर यहां पढ़िए कि ऐसा होता तो कैसी होती 'बजरंगी भाईजान'?

    सलमान नहीं, आमिर होते बजरंगी

    सलमान नहीं, आमिर होते बजरंगी

    जी हां, सलमान खान से पहले कबीर खान ने आमिर को इस फिल्म के लिए अर्पोच किया था। बहरहाल, यदि ऐसा होता तो शायद बजरंगी भाईजान जैसी आज है, वैसी तो नहीं ही होती। क्योंकि आमिर खान फिल्म का निर्देशन करें या न करें.. जिस फिल्म में वे होतें हैं वह उनके हिसाब से बनती है। हो सकता है फिल्म और बेहतर बनती.. लेकिन जो जादू सलमान दिलों में छोड़ गए, वह नहीं हो पाता..

    मुन्नी न होती गूंगी

    मुन्नी न होती गूंगी

    फिल्म में सारी परेशानी इसीलिए खड़ी होती है क्योंकि मुन्नी यानि की शाहिदा गूंगी होती है। सोचिए यदि मुन्नी बोल पाती तो.. तो या तो मुन्नी की ट्रेन नहीं छूटती, क्योंकि वह अपनी मां को बोलकर ट्रेन से नीचे उतरती.. या तो ट्रेन चलते ही वह आवाज लगाती और कोई चेन खींचकर ट्रेन रोक लेता.. या वह जब सलमान से मिलती तो सीधे सीधे बता देती कि वह कहां से आई है.. लेकिन ऐसा होता तो बज जाती कहानी की बैंड..

    नहीं होते हनुमान भक्त

    नहीं होते हनुमान भक्त

    सलमान खान फिल्म में हनुमान भक्त होते हैं और बार बार बोलते सुनाई देते हैं कि हम बजरंग बली के भक्त हैं.. हम झूठ नहीं बोलते.. लेकिन सोचिए यदि ऐसा न होता.. यदि सलमान नॉर्मल इंसान जितना भी झूठ बोलते होते तो मुन्नी को कबका पाकिस्तान पहुंचा कर वापस आ चुके होते।

    नहीं होता पाकिस्तान का मैच

    नहीं होता पाकिस्तान का मैच

    फिल्म में इंडिया- पाक मैच को काफी महत्वपूर्ण दिखाया गया है। लेकिन सोचिए यदि पाक मैच न दिखाया गया होता तो.. तो मुन्नी पाकिस्तान से है, यह बात और कई दिनों तक परिवार में नहीं पता चल पाता। कई दिनों तक या पता कभी भी नहीं पता चल पाता।

    सलमान को होती जेल

    सलमान को होती जेल

    सलमान खान बॉर्डर क्रॉस करके पाकिस्तान चले जाते हैं और उन्हें कुछ नहीं होता। लेकिन मान लीजिए, यदि सलमान को सलाखों के पीछे डाल दिया जाता तो.. जैसे वीर-जारा में शाहरूख खान को जेल में सालों के लिए कैद कर लिया गया था। तो मुन्नी अपने घरवालों तक कैसे पहुंच पाती??

    नवाजुद्दीन होते विलेन

    नवाजुद्दीन होते विलेन

    जैसा कि फिल्म रिलीज से पहले बताया जा रहा था, नवाजुद्दीन सिद्दिकी फिल्म के विलेन होते तो.. तो सलमान खान को पाकिस्तानी पुलिस आसानी से ढूंढ़ निकालती और सलमान होते पाक के किसी जेल में.. लेकिन फिल्म देखकर फिर लोगों का इंसानियत पर से विश्वास उठ जाता।

    नहीं चलता यूट्यूब

    नहीं चलता यूट्यूब

    ये तो खैर, निर्देशक साहब की बड़ी भूल थी कि उन्होंने पाकिस्तान में यूट्यूब चलते दिखाया। यूट्यूब में वीडियो डालकर नवाज पूरे भारत- पाक को बजरंगी की साइड कर लेते हैं। लेकिन मान लीजिए, यह सच में नहीं दिखाया जाता तो.. तो फिर निर्देशन क्या जादू करते कि मुन्नी अपने परिवार वालों से मिल पाती..

    मर जाते सलमान खान

    मर जाते सलमान खान

    फिल्म के अंत में सलमान खान पर गोली चलती है, जिसके बाद ज्यादातर दर्शकों को यही लगता है कि पवन कुमार चतुर्वेदी मर गया। लेकिन मान लीजिए ऐसा सच में होता तो.. तो सलमान फैंस पता नहीं कैसे रिएक्ट करते। वहीं, फिल्म का प्रभाव भी कम पर जाता।

    कहानी की Band- पीके

    कहानी की Band- पीके

    यहां पढ़ें-

    कहानी की Band: पीके, कम से कम सुशांत की कॉस्ट्यूम तो चेंज कर देते

    English summary
    Salman Khan's film Bajrangi Bhaijaan is realeased and became superhit. Do you know Salman Khan was not the first choice for the film.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X