For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    'हम जहां खड़े होते हैं लाइन वहीं से शुरू होती है..'- कादर खान के 10 ब्लॉकबस्टर डायलॉग

    |

    बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता और लेखक कादर खान लंबी बीमारी के बाद 1 जनवरी 2019 को निधन हो गया। बतौर एक्टर तो हमें कादर खान की अनगिनत फिल्में याद हैं- हीरो नंबर 1 से लेकर दुल्हे राजा और बोल राधा बोल तक। लेकिन बता दें, कादर खान ने लगभग 250 से ज्यादा फिल्मों के डॉयलोग्स भी लिखे हैं। जो कि आज भी लोगों को याद हैं।

    प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और राष्ट्रपति ने कादर खान की निधन पर जताया शोकप्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और राष्ट्रपति ने कादर खान की निधन पर जताया शोक

    अमिताभ बच्चन की कुली, मुक्कदर का सिकंदर, अमर अकबर एंथनी जैसी सुपरहिट फिल्मों को भले ही लोगों ने दसों बार देखा होगा.. फिल्म के डायलॉग्स को दोहराया होगा। लेकिन क्या आपको पता है कि इन सभी फिल्मों के संवाद कादर खान ने ही लिखे हैं।

    80 और 90 के दशक की 250 से ज्यादा फिल्मों के संवाद इस दिग्गज कलाकार ने ही लिखे हैं। इनके संवाद में कॉमेडी और इमोशन का जबरदस्त मिश्रण होता था। जिसे लोग बेहद पसंद करते थे और कई डायलॉग्स को फिल्म के सालों बाद भी लोगों ने जेहन में रह गए हैं।

    यहां पढ़ें कादर खान के पॉपुलर डायलॉग्स-

    अमर अकबर एंटनी

    अमर अकबर एंटनी

    अपन फेमस आदमी.. बड़ा-बड़ा पेपर में अपन का छोटा-छोटा फोटो छपता है.. लकी मैन..

    अग्निपथ

    अग्निपथ

    पूरा नाम विजय दीनानाथ चौहान, बाप का नाम, दीनानाथ चौहान, मां का नाम, सुहासिनी चौहान, गांव मांडवा, उम्र 36 साल..

    कालिया

    कालिया

    हम जहां खड़े होते हैं लाइन वहीं से शुरू होती है।

    मुक्कदर का सिकंदर

    मुक्कदर का सिकंदर

    जिंदा हैं वो लोग जो मौत से टकराते हैं, मुर्दों से बदतर हैं वो लोग जो मौत से घबराते हैं..

    मुक्कदर का सिकंदर

    मुक्कदर का सिकंदर

    सुख तो बेवफा है, चंद दिनों के लिए आता है और चला जाता है..

    हम

    हम

    मोहब्बत को समझना है तो प्यारे खुद मोहब्बत कर..किनारे से कभी अंदाज-ए-तूफ़ान नहीं होता..

    कुली

    कुली

    बचपन से सर पर अल्लाह का हाथ और अल्लाहरख्खा है अपने साथ, बाजू पर 786 का है बिल्ला, 20 नंबर की बीड़ी पीता हूं और नाम है 'इकबाल'

    जैसी करनी वैसी भरनी

    जैसी करनी वैसी भरनी

    सुख तो बेवफा तवायफ की तरह है। जो आज इसके पास कल उसके पास। अगर इंसान दुख से दोस्ती कर ले तो फिर जिंदगी में कभी उसको सुख की तमन्ना ही नहीं रहेगी।

    नसीब

    नसीब

    जिंदगी तो खुदा की रहमत है.. जो नहीं समझा, उसकी ज़िंदगी पर लानत है..

    दुल्हे राजा

    दुल्हे राजा

    अरे क्‍या गजब करते हो सेक्रेटरी साहब? क्‍यों मोहब्‍बत के शीशे को बुढ़ापे के पत्‍थर से तोड़ रहे हो..

    English summary
    As veteran actor- writer Kader Khan passed away this morning. Here read the famous bollywood dialogues written by him.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X