For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    #5Years: दोस्तों के साथ नहीं देखी ये फिल्म.. तो फिर क्या देखा!

    By Shivani Verma
    |

    ज़ोया अख्तर की फिल्म ज़िंदगी ना मिलेगी दोबार दोस्ती के लिए आदर्श फिल्म है। ये फिल्म तीन दोस्तों की रोड ट्रिप पर आधारित है जो इस दौरान लाइफ के ऊंच-नीच के पड़ाव को एक साथ जीते हैं। 15 जुलाई 2011 को रिलीज़ हुई इस फिल्म को आज पूरे पांच साल हो गए हैं।

    रितिक रौशन अभय देओल, फरहान अख्तर, कैटरीना कैफ, कल्कि स्टारर इस फिल्म को दो नेशनल अवॉर्ड भी चुके हैं। इस फिल्म का नाम ही आपको हर परिस्थितियों में लाइफ एंजॉय करने का हौसला देता है...क्योंकि जिंदगी ना मिलेगी दोबारा..है ना..!

    PICS : सनी लियोनी का एक और फोटोशूट....बेहद HOT...!

    इस फिल्म में आपको कई ऐसे फ्रेंडशिप लेसन सीखने को मिलेंगे जिन्हें आप असल जिंदगी में भी उतार सकते हैं। इंसान के लिए हर रिश्ता जरूरी होता है। ऐसे ही दोस्ती के रिश्ते की हर एक जिंदगी में अलग जगह होती है। तो आज हम आपको इस फिल्म में बताई गई फ्रेंडशिप सीख को शेयर करेंगे।

    दोस्ती कभी आपका बैकग्राउंड नहीं देखती

    ZNMD

    इस फिल्म में आपने देखा कि एक तरफ रितिक रौशन एक सक्सेसफुल इनवेस्टमेंट बैंकर हैं, अभय देओल एक बिज़नेसमैन, फरहान अख्तर एक राईटर हैं। जहां एक तरफ रितिक रौशन फिल्म में काफी सीरियस रोल में हैं तो वहीं फरहान अख्तर फन लविंग हैं। दोनों का नेचर अलग होने का बाद भी ये अपनी दोस्ती को कायम रखते हैं।

    कभी एक लड़की के लिए मत लड़ो

    इस फिल्म की शुरुआत में फरहान और रितिक के बीच थोड़ा तनाव दिखाया गया है और वो था एक लड़की की वजह से। इसमें रितिक फरहान पर अपनी गर्लफ्रेंड को छीनने का आरोप लगाता है। इससे ये साबित होता है कि कभी भी अपने दोस्त के प्यार के साथ फ्लर्ट न करें और उसे उससे छीने नहीं। आखिर एक लड़की के लिए अपनी दोस्ती क्यों खराब की जाए।

    डर के आगे जीत है

    हर एक को किसी न किसी चीज़ से डर तो लगता ही है। ऐसे में एक अच्छा दोस्त ही होता जो आपको उस डर से जीतने की हिम्मत देता है। इस फिल्म में दिखाए गए ऐसे एडवेंचर्स हैं जिससे किसी न किसी दोस्त को डर लगता है और दूसरे दोस्त ही उसे आगे बढ़ने की हिम्मत देते हैं।

    लिव लाइफ किंग साइज़

    इस फिल्म में दिखाया गया है कि जो है जैसा है इस पल को अभी जी लो, क्योंकि ये चांस आपको दोबारा नहीं मिलेगा। इसमें रितिक 40 की उम्र तक सबसे ज्यादा पैसा कमाना चाहता है। लेकिन कैटरीना से मिलने के बाद उसे अहसास होता है कि जिंदगी का क्या भरोसा, आज है कल नहीं, इसलिए इस पल को अभी जी लिया जाए...क्योंकि ज़िंदगी ना मिलेगी दोबारा.... :)

    शादी से पहले भी जी लें ज़रा

    जब भी आप शादी प्लान करें तो उससे पहले बैचलर पार्टी तो करना बनता ही है। इस फिल्म में यही दिखाया है। बल्कि इस फिल्म में तीनों दोस्त अपनी शादी होने से पहले बैचलर ट्रिप पर निकले थे।

    English summary
    Five years complete of Zindagi na milegi dobara movie.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X