For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    PICS: बॉलीवुड में हिट रहा है 'महाराष्ट्र का सियासी जंग'

    |

    मुंबई। यूं तो रियल लाइफ में आज महाराष्ट्र और हरियाणा की सियासत हर जगह का गरम मुद्दा बना हुआ है। लेकिन सिर्फ रियल ही नहीं रील लाइफ में भी महाराष्ट्र की राजनीति काफी हिट साबित हुई है। सुनहरे पर्दे पर सिर्फ एक या दो बार नहीं, बल्कि कई बार महाराष्ट्र की राजनीति को उतारा गया है।

    माना जाता है महाराष्ट्र का सियासी जंग काफी दिलचस्प है। लिहाजा इस विषय को फिल्मों में तब्दील करने में हमारे डाइरेक्टरर्स कैसे पीछे रहते। कई फिल्मों में महाराष्ट्र की राजनीति को जोरदार तमाचा लगाया गया है तो किसी फिल्म में मीडिया और राजनीति के रिश्ते को ललकारा गया है।

    बहरहाल, यहां देखते हैं कि किन किन फिल्मों में महाराष्ट्र की राजनीति को लाइम लाइट में लाया गया है।

    राजनीति के दो चेहरे

    राजनीति के दो चेहरे

    वर्ष 2003 में मधुर भंडारकर की फिल्म सत्ता काफी चर्चा में रही थी। दिल्ली की आदर्शवादी सोच वाली महिला किस तरह मुंबई में आकर राजनीति के चेहरों में फंसती है। और वहीं, इसके बाद उसे दिखता है राजनीति का घिनौना चेहरा। अनुराधा वी चौहान की यह भूमिका रवीना टंडन ने जबरदस्त तरीके के निभाई थी। यह फिल्म रवीना टंडन के कैरियर की महत्वपूर्ण फिल्मों में से एक है। वहीं, इस फिल्म में अतुल कुलकर्णी और श्री वल्लभ व्यास ने भी काफी मजबूत भूमिका निभाईं थी।

    महाभारत की पृष्ठभूमि

    महाभारत की पृष्ठभूमि

    इस फिल्म में विभिन्न राजनीतिक पहलुओं पर चर्चा की गयी है। प्रकाश झा द्वारा निर्देशित इस फिल्म में एक राजनितिक दल एवं परिवार के आपसी फुट के कारण हो रही महाभारत का चित्रण किया गया है। इस फिल्म के मुख्य किरदारों में रणबीर कपूर, कटरीना कैफ और अजय देवगन ने मुख्य भूमिका निभायी है।

    राजनीति है क्राइम का दलदल

    राजनीति है क्राइम का दलदल

    रामगोपाल वर्मा की फिल्म सरकार हॉलीवुड मूवी गॉडफादर से प्रेरित थी। वहीं, इस फिल्म में लोग मुख्य भूमिका निभा रहे अमिताभ बच्चन को बाल ठाकरे की भूमिका में भी देखते हैं। यह फिल्म ने राजनीति और क्राइम को काफी रोमांचक ढ़ंग से परोसा था। इस फिल्म में अमिताभ और अभिषेक की जबरदस्त एक्टिंग ने लोगों को चकाचौंध कर डाला था।

    ठाकरे परिवार की पृष्ठभू‍मि

    ठाकरे परिवार की पृष्ठभू‍मि

    ‘सरकार राज' में अमिताभ रिटायरमेंट ले लेते हैं, लेकिन अभिषेक अपने ऊपर जिम्मेदारी नहीं लेना चाहते हैं। इसी कशमकश को दिखाया जाएगा। ‘सरकार राज' महाराष्ट्र के चर्चित एवं विवादास्पद पॉवर प्रोजेक्ट एनरॉन और कथित रूप से ठाकरे परिवार की पृष्ठभू‍मि पर आधारित है। ‘सरकार राज' में राजनीतिक चालों का घिनौना चेहरा और बैर-बदले की कहानी हत्यारों के माध्यम से चलती है। लेकिन एक दिन इन्हीं कामों के कीमत सरकार को अपने बेटे की जिंदगी गंवा कर चुकानी पड़ती है।

    मीडिया और राजनीति का खेल

    मीडिया और राजनीति का खेल

    रामगोपाल वर्मा द्वारा निर्देशित फिल्म रण का निष्कर्ष है कि मीडिया मुनाफे के लोभ और टीआरपी के दबाव में भ्रष्ट होने को अभिशप्त है, लेकिन आखिर में विजय हर्षव‌र्द्धन मलिक(अमिताभ बच्चन) के विवेक और ईमानदारी से सुधरने की संभावना बाकी दिखती है। यह एक पॉलीटिकल ड्रामा फिल्म थी।

    एक दिन का मुख्यमंत्री

    एक दिन का मुख्यमंत्री

    नायक महाराष्ट्र की राजनीतिक पृष्ठभूमि पर बनी एक बेहद ही पॉपुलर फिल्म है। अनुल कपूर द्वारा निभाए गए एक दिन का मुख्यमंत्री की भूमिका लोगों को काफी पसंद आई थी। हालांकि बॉक्सऑफिस पर फिल्म ज्यादा नहीं कमा पाई थी। लेकिन महाराष्ट्र की बिगड़ी प्रशासन और राजनीति को एक जोरदार तमाचा जड़ा था।

    भ्रष्टाचार का तमाचा

    भ्रष्टाचार का तमाचा

    भूतनाथ के बाद भूतनाथ रिटनर्स में राजनीति की कोई उम्मीद तो नहीं की गई थी। लेकिन निर्देशक ने इस फिल्म के जरिए एक महाराष्ट्र राजनीति का तड़का लगाया। इसमें भूत बने अमिताभ बच्चन चुनाव में खड़े होते हैं और लोगों के बीच भ्रष्टाचार के विरोध में मुहिम चलाते हैं।

    मजबूत किरदार

    मजबूत किरदार

    गुलजार द्वारा निर्देशित इस फिल्म ने काफी नाम कमाया था। इस फिल्म के तब्बू ने मुख्यमंत्री की बेटी पन्ना बरवे का किरदार अदा किया है। जिसकी किडनैपिंग हो जाती है। इसी के कहानी की शुरूआत है, जब किडनैपर्स बेटी को छोड़ने के लिए अपने किसी साथी को जेल से निकालने की मांग करते हैं।

    English summary
    Here are some of the films which are based on politics of Maharashtra.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X