For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    B'day Spcl: देसी और हटकर अंदाज, खतरनाक मारधाड़ भरी फिल्में, जीत ले गए ताबड़तोड़ अवॉर्ड्स

    |

    बॉलीवुड में यूं तो हर साल एक से बढ़कर एक स्टार एंट्री लेते हैं। लेकिन कुछ ही ऐसे स्टार होते हैं जिनका अलग अंदाज ऑडिएंस के दिलो-दिमाग पर छा जाता है। आज हम किसी एक्टर की बात नहीं कर रहे बल्कि स्टार मेकर की बात पर रहे हैं। इनकी फिल्में किसी एक्टर को भी सुपरस्टार बना सकती हैं। ये फिल्ममेकर अपने डार्क और ठेठ देसी स्टाइल के लिए जाने जाते हैं और इनकी फिल्में ऑडिएंस को कुछ इस तरह इंप्रेस करती हैं कि ट्रेंड बन जाती हैं। ये डारेक्टर हैं.. प्रोड्यूसर हैं.. स्क्रीनराइटर हैं और एक्टर भी हैं।

    [अक्षय कुमार की अजीबो-गरीब हरकतें, कैमरे में कैद, देख कर भौचक्के रह जाएंगे आप]

    जी हां ! हम बात कर रहे हैं गैंग्स ऑफ वसेपुर जैसी फिल्मों के डायरेक्टर अनुराग कश्यप की। बॉलीवुड के सबसे सफल फिल्म मेकर में से एक अनुराग आज अपना 46वां जन्मदिन मना रहे हैं। उन्होंने 15 साल पहले यानी 2003 में आई फिल्म पांच से डायरेक्टोरियल डेब्यू किया था। जिसके बाद उन्होंने एक के बाद एक धमाकेदार फिल्में दी हैं। उन्होंने अपनी इन शानदार फिल्मों के लिए कई अवॉर्ड्स अपने नाम किए हैं। जिनमें एक नेशनल अवॉर्ड है और 4 फिल्मफेयर अवॉर्ड है।

    जितनी डार्क उनकी फिल्में होती हैं उतनी ही दिलचस्प है अनुराग की रियल लाइफ। 45 साल के अनुराग कश्यप अब तक दो शादियां कर चुके हैं। वहीं, इन दिनों वे खुद से 21 साल छोटी लड़की शुभ्रा शेट्टी के साथ डेट कर रहे हैं। ज्यादातर शांत रहने वाले अनुराग ने अपने साथ हुई यौन शोषण की घटना के बारे में बता कर सभी को चौंक दिया था। बहरहाल, इतने शानदार फिल्म मेकर का जन्मदिन है और उनकी फिल्मों के बारे में बात न हो ऐसा तो नहीं हो सकता ... तो इसी बात पर आगे जानें उनकी 10 शानदार और लीक से हटकर फिल्मों के बारे में-

    गैंग्स ऑफ वसेपुर

    गैंग्स ऑफ वसेपुर

    2012 में आई इस फिल्म में जबरदस्त मारधाड़ और देसी डायलॉग देखने को मिले थे। इस फिल्म को लोगों ने इतना पसंद किया कि सुपरहिट हो गई।

    देव डी

    देव डी

    अनुराग कश्यप द्वारा निर्देशित ये फिल्म 2009 में रिलीज हुई थी। इस फिल्म के एडल्ट कंटेंट ने जबरदस्त सुर्खियां बटोरी थीं।

    ब्लैक फ्राइडे

    ब्लैक फ्राइडे

    ये फिल्म 2004 में आई थी और अनुराग कश्यप के करियर की लैंडमार्क बन गई। इस फिल्म से उन्हें बतौर निर्देशक अलग पहचान मिली।

    गुलाल

    गुलाल

    2009 में आई इस फिल्म में यूनिवर्सिटी और कॉलेजों में पॉलिटिकल दुश्मनी की कड़वी सच्चाई दिखाई गई थी।

    अगली

    अगली

    2013 में आई इस फिल्म में एक गुमशुदा लड़की की कहानी दिखाई गई है जो डार्क से भी डार्क होती चली जाती है।

    मुक्काबाज

    मुक्काबाज

    ये फिल्म 2017 में रिलीज हुई थी। इस फिल्म में दिखाया गया था कि लोअर कास्ट का मुक्केबाज बॉक्सिंग की दुनिया में किन मुश्किलों से गुजरता है।

    रमन राघव

    रमन राघव

    बॉलीवुड में शायद ही इतनी डार्क फिल्म देखने को मिली हो। रमन नाम का एक मर्डरर को अपना सोलमेट मिलता है एक पुलिस वाले राघव में.. क्राइम की दुनिया के गहरे अंधेरे रूबरू करवाती ये फिल्म ज्यादा लोगों को समझज नहीं आई।

    पांच

    पांच

    2003 में रिलीज हुई ये फिल्म अनुराग कश्यम की डायरेक्टोरियल डेब्यू फिल्म है। अपनी जिंदगी बर्बाद करते युवाओं की कहानी है पांच।

    नो स्मोकिंग

    नो स्मोकिंग

    2007 में आई ये फिल्म काफी हटके थी। जिसमें सिगरेट की लत में डूबे एक व्यक्ति को एक सुधार केंद्र मिलता है जो अजीब तरीके से सिगरेट छुड़वाने का दावा करता है।

    दैट गर्ल इन यलो बूट्स

    दैट गर्ल इन यलो बूट्स

    2010 में आई इस फिल्म में भारत में अपने पिता को खोज रही एक ब्रिटिश लड़की के संघर्ष की कहानी दिखाई गई है।

    English summary
    Film maker Anurag Kashyap turns 46 know his 10 best films.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X