For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    Pic बेहद बोल्ड एक्ट्रेस रह चुकी हैं रामायण की मंथरा 'ललिता पवार', तमाचे से चेहरा खराब

    |

    दूरदर्शन के रामायण की टीआरपी के बीच इस समय उन सभी कलाकारों की चर्चा हो रही है। जिनकी वजह से ये शो टीवी के इतिहास में अमर हो गया है। इससे सभी वाकिफ हैं कि अगर मंंथरा ना होती तो शायद रामायण ना होता।

    मंथरा के कारण ही राम को महल छोड़ना पड़ा फिर हुआ रामायण। रामानंद सागर की रामायण में इस किरदार को ललिता पवार ने निभाया। ललिता पवार से कौन वाकिफ नहीं है। हिंदी सिनेमा के पर्दे पर अपने निगेटिव किरदार से उन्होंने एक अलग पहचान बनाई है।

    लेकिन क्या आप जानते हैं कि ललिता पवार कभी निगेटिव भूमिका निभाती ही नहीं अगर उनके साथ ये बड़ा हादसा ना हुआ होता। 40 के दशक की बोल्ड एक्ट्रेस से अपना सफर शुरू करने वालीं ललिता पवार की अनदेखी ग्लैमरस तस्वीरों के साथ जानिए कि ऐसा क्या हुआ उनके साथ...

    40 के दशक की बोल्ड एक्ट्रेस ललिता पवार

    40 के दशक की बोल्ड एक्ट्रेस ललिता पवार

    रामायण की मंथरा बनने से पहले ललिता पवार 40 के दशक की बेहद बोल्ड एक्ट्रेस रह चुकी हैं। हालांकि शूटिंग के दौरान एक हादसे ने उन्हें बोल्ड एक्ट्रेस से निगेटिव किरदार में ला दिया।

    1928 में फिल्म राजा हरिशचंद्र

    1928 में फिल्म राजा हरिशचंद्र

    12 साल की उम्र से उन्होंने 1928 में रिलीज फिल्म राजा हरिशचंद्र से अपना काम शुरू किया। इसके साथ वह गाना भी गाती थीं। अपनी जवानी के दिनों में वह ग्लैमरस एक्ट्रेस हुआ करती थीं।

    बेहतरीन सिंगर ललिता पवार

    बेहतरीन सिंगर ललिता पवार

    इसके साथ साल 1935 में हिम्मते मर्दां में उनका गाया हुआ गाना नील आभा में प्यारा गुलाब रहे उस वक्त का सबसे हिट सांग हुआ करता था। एक्ट्रेस और सिंगर के तौर पर वह आगे बढ़ रही थीं।

    तमाचे के बाद ललिता पवार लकवे का शिकार

    तमाचे के बाद ललिता पवार लकवे का शिकार

    साल 1942 उनकी जिंदगी का सबसे खराब साल रहा। जंग ए आजादी फिल्म की शूटिंग के दौरान भगवान दादा ने ललिता को तमाचा मारा। वह जमीन पर गिर गईं। उनके कान से खून आने लगा। डॅाक्टर ने उन्हें कोई गलत दवा दे दी। जिसके बाद उनके दाहिने हिस्से को लकवा मार दिया।

    40 के दशक में ललिता पवार का बिकिनी सीन

    40 के दशक में ललिता पवार का बिकिनी सीन

    आपको बता दें कि पहली बोलती फिल्म हिम्मत ए मर्दा में अपने बिकिनी सीन से उन्होंने 40 के दशक में तूफान ला दिया था। हालांकि हादसे के बाद जब उन्होंने फिल्मों में वापसी की तो एक आंख के पास चेहरा खराब होने के कारण उन्हें मुख्य अभिनेत्री बनने का अवसर नहीं मिला।

    निगेटिव भूमिका से ललिता पवार की वापसी

    निगेटिव भूमिका से ललिता पवार की वापसी

    साल 1948 में उन्होंने यूसुफ की फिल्म गृहस्थी से वापसी की।इसके बाद फिल्मों में केवल निगेटिव भूमिका में दिखाई दीं। लेकिन इससे भी उन्होंने एक पहचान कायम की।

    इस वजह से हुई ललिता पवार की मौत

    इस वजह से हुई ललिता पवार की मौत

    कहा जाता है कि उन्हें कैंसर हो गया था। उनकी याददाश्त भी कमजोर होने लगी थी। जिसके बाद 24 फरवरी 1998 को उन्होंने इस दुनिया से अलविदा ले लिया।

    English summary
    Doordarshan Ramayan manthra lalita pawar old glamours pic viral with unknown facts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X