For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    95 साल..54 फिल्में.. भारत ही नहीं पाकिस्तान भी दीवाना.. कभी देखी नहीं होंगी Rare Pics

    By Utkarsh
    |

    लाखों दिलों पर राज करने वाले बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता दिलीप कुमार आज 95 के हो गए हैं। दिलीप कुमार का असली नाम युसूफ खान था फिल्मों में आने से पहले उन्होंने अपना नाम बदल लिया था। वहीं दिलीप कुमार की जिंदगी भी किसी फिल्म से कम नहीं रही है। चाहे वो शादी हो प्यार हो या फिर उनका करियर।

    [800 करोड़ी फिल्म.. शाहरुख-आमिर के उड़े होश.. सबसे ज्यादा कमा गए ये सुपरस्टार]

    दिलीप कुमार पाकिस्तान के पेशावर में रहने वाले एक परिवार से हैं। उनके पिता देश के बंटवारे के बाद मुंबई आ गए थे। दिलिप कुमार ऐसी शख्सियत हैं जिन्हें भारत के साथ-साथ पाकिस्तान से भी उतना ही प्यार मिलता है। महज 25 साल की छोटी उम्र में दिलीप साहब ने बॉलीवुड में अपनी वो जगह बना ली थी, जो आज तक कोई नहीं बना सका।

    उन्होंने अपने शानदार करियर में केवल 54 फिल्में ही की हैं। वहीं फिल्म मुगलेआजम दिलीप साहब के करियर की माइलस्टोन साबित हुई। हाल ही में दिलीप कुमार बीमारी से लड़ कर बाहर आए हैं। आगे जानिए उनके बारे में कुछ और दिलचस्प बातें और तस्वीरों में देखें कितने बदल गए हैं बॉलीवुड के प्रिंस सलीम-

    कभी नहीं ली ट्रेनिंग

    कभी नहीं ली ट्रेनिंग

    दिलीप कुमार का जन्म पेशावर में हुआ था। उनके पिता देश के बंटवारे के बाद मुंबई आ गए थे। दिलीप कुमार ने एक्टिंग की कोई ट्रेनिंग कभी नहीं ली, वे एक स्वाभाविक अभिनेता रहे हैं।

    आत्मकथा

    आत्मकथा

    पिछले साल ही एक लंबे इंतज़ार के बाद दिलीप कुमार की आत्मकथा 'दिलीप कुमार: सब्स्टंस ऐंड द शैडो' आई।

    अकेले बदला सबकुछ

    अकेले बदला सबकुछ

    सायरा बानो के मुताबिक दिलीप कुमार मतलब वह आदमी जिसने करीब-करीब अकेले दम पर हिंदी सिनेमा का मतलब और उसका स्वरुप भी बदल डाला।

    ऐसे बने दिलों की धड़कन

    ऐसे बने दिलों की धड़कन

    आजादी के बाद के पहले दो दशकों में ही 'मेला', 'शहीद', 'अंदाज़', 'आन', 'देवदास', 'नया दौर', 'मधुमती', 'यहूदी', 'पैगाम', 'मुगल-ए-आजम', 'गंगा-जमना', 'लीडर' और 'राम और श्याम' जैसी फ़िल्मों के नायक दिलीप कुमार लाखों युवा दर्शकों के दिलों की धड़कन बन गए थे।

    ट्रेजेडी किंग

    ट्रेजेडी किंग

    जहां एक तरफ उन्होंने नाकाम प्रेमी के रूप में सबको रुला दिया और ट्रेजेडी किंग कहलाए। वहीं कॉमेडी फिल्मों में भी उनसे बेहतर कोई नहीं लगा।

    54 फिल्में

    54 फिल्में

    दिलीप कुमार ने अपने फिल्मी करियर में मात्र 54 फिल्में की हैं लेकिन, उन्होंने हिंदी सिनेमा में अभिनय की कला को नई परिभाषा दी है।

    शादी की कहानी

    शादी की कहानी


    11 अक्टूबर 1966 को 25 साल की उम्र में सायरा ने 44 साल के दिलीप कुमार से शादी कर ली। कहते हैं कि दूल्हा बने दिलीप कुमार की घोड़ी की लगाम पृथ्वीराज कपूर ने थामी थी और दाएं-बाएं राज कपूर तथा देव आनंद नाच रहे थे।

    ऐसे बने दिलिप कुमार

    ऐसे बने दिलिप कुमार

    दिलीप कुमार फ़िल्म निर्माण संस्था 'बॉम्बे टॉकिज' की देन हैं, जहां देविका रानी ने उन्हें काम और नाम दिया। यहीं वे यूसुफ सरवर खान से दिलीप कुमार बने।

    बॉलीवुड के त्रिमूर्ति

    बॉलीवुड के त्रिमूर्ति

    राजकपूर और देव आनंद के आने के बाद 'दिलीप-राज-देव' की साथ में बॉलीवुड के त्रिमूर्ति कहे जाने लगे।

    भारत-पाकिस्तान

    भारत-पाकिस्तान

    दिलीप कुमार को बेहतरीन अभिनय के लिए भारत सरकार ने उन्हें 1991 में पद्‍मभूषण की उपाधि से नवाजा और 1995 में फ़िल्म का सर्वोच्च राष्ट्रीय सम्मान 'दादा साहब फालके अवॉर्ड' भी प्रदान किया। पाकिस्तान सरकार ने भी उन्हें 1997 में 'निशान-ए-इम्तियाज' से नवाजा था, जो पाकिस्तान का सर्वोच्च नागरिक सम्मान है।

    English summary
    dilip kumar 95th birthday see his rare pictures here
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X