For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    #ScoreCard: ऐ दिल है मुश्किल Vs शिवाय: किसने फोड़ा बम और किसका निकला दीवाला!

    |

    ऐ दिल है मुश्किल और शिवाय दीवाली बॉक्स ऑफिस के लिए लड़ रही हैं और दोनों ही फिल्मों के कलेक्शन पर सबकी नज़रें टिकी हैं। औसतन अगर कोई बड़ी फिल्म, किसी बड़ी तारीख पर रिलीज़ होती है तो उसे 25 - 26 करोड़ की ओपनिंग मिलती है।

    इसी ओपनिंग को शिवाय और ऐ दिल है मुश्किल में बांट कर ट्रेड पंडितों ने कयास लगाए थे कि शिवाय को 12 और ऐ दिल है मुश्किल को 13 -14 करोड़ की ओपनिंग मिलेगी।

    लेकिन जब टक्कर ज़बर्दस्त हो तो उसका नतीजा क्या हुआ ये जानने में सबको दिलचस्पी रहती है। क्योंकि भई ज़ाहिर सी बात है कि अगर दो लोग भिड़ रहे हैं तो एक जीतेगा और एक हारेगा ज़रूर।
    ["मेरी फिल्में 600 करोड़ कमा लें तो मैं भी खुद को आमिर खान मानूं"]

    बॉलीवुड में क्लैश होना हमेशा से लाज़मी रहा है। भई हो भी क्यों ना साल में 52 शुक्रवार होते हैं और 100 से ऊपर फिल्में रिलीज़ हो जाती हैं। ऐसे में कोई ना कोई किसी ना किसी से तो भिड़ेगा ही भिड़ेगा।

    लेकिन ये टक्कर दिलचस्प तब होती है जब कोई बड़ा त्योहार किसी फिल्म को या सुपरस्टार को भा जाए। इन तारीखों की रिलीज़ डेट कोई छोड़ना नहीं चाहता और तभी शुरू होती है टक्कर।

    biggest-diwali-clashes-bollywood-at-the-box-office

    दीवाली भी ऐसी ही एक तारीख है जिसे कोई सुपरस्टार नहीं छोड़ना चाहता। काफी समय तक शाहरूख खान ने इस तारीख पर राज भी किया है। लेकिन दीवाली का माहौल ऐसा है कि ये किसी भी फिल्म का दीवाला निकाल देती है।
    [#2016BoxOffice: पहला सुलतान और दूसरा धोनी का धमाका...ये रहे टॉप 10]

    अगर आपकी फिल्म पूरे परिवार का मनोरंजन नहीं कर सकती तो कितना भी बड़ा सुपरस्टार हो दर्शकों ने उसे सिरे से नकार दिया। क्योंकि दीवाली समय ही है पूरे परिवार के साथ मनोरंजन करने का।

    देखिए बॉलीवुड के अब तक के सबसे बड़े दीवाली क्लैश और उनके नतीजे -

    शिवाय Vs ऐ दिल है मुश्किल

    शिवाय Vs ऐ दिल है मुश्किल

    नतीजा - अभी तो शुरूआत है

    दोनों ही फिल्मों की ओपनिंग की चर्चा हो चुकी है और अब थोड़ी देर में नतीजे आना शुरू हो जाएंगे। तब तक के लिए आप शिवाय के बॉक्स ऑफिस कलेक्शन पर नज़र डाल लीजिए यहां-->[#Shock: अजय देवगन की शिवाय का ओपनिंग कलेक्शन सुनते ही होश उड़ जाएंगे! ]
    अंदाज़ अपना अपना Vs सुहाग

    अंदाज़ अपना अपना Vs सुहाग

    नतीजा - सुहाग
    अंदाज़ अपना अपना जहां दर्शकों को पसंद नहीं आई वहीं सुहाग को लोगों ने आड़े हाथों लिया था। वजह साफ थी सुहाग एक मां बेटे की कहानी पर फोकस करती थी वहीं अंदाज़ अपना अपना हल्की फुल्की सी कॉमेडी थी पर रोमांस के तड़के के बिना।

    दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे Vs याराना

    दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे Vs याराना

    नतीजा - कुछ कहने की ज़रूरत है??

    अब आप ही सोचिए कि DDLJ जिसमें देश था, संस्कार थे, परिवार था उसके आगे एक एक्सट्रा मैरिटल अफेयर वाली फिल्म कौन देखता? भले ही उसमें ऋषि कपूर और माधुरी दीक्षित ही क्यों ना हों!

    मोहब्बतें Vs मिशन कश्मीर

    मोहब्बतें Vs मिशन कश्मीर

    नतीजा - मोहब्बतें

    अब आप सोच कर देखिए मार धाड़, आतंकवाद जैसे भारी भरकम शब्द दीवाली की खुशियों के बीच? ज़ाहिर सी बात थी कि मोहब्बतें को जीतना ही था।
    डॉन Vs जानेमन

    डॉन Vs जानेमन

    नतीजा - डॉन

    अब यहां नतीजा थोड़ा गड़बड़ा गया लेकिन लोगों के पास ऑप्शन ही नहीं था। जानेमन शिरीष कुंदेर की फिल्म थी...वो फराह खान के पति...और उनकी बातों जैसी ही बेसिर पैर की फिल्म थी!
    ओम शांति ओम Vs सांवरिया

    ओम शांति ओम Vs सांवरिया

    नतीजा - ओम शांति ओम

    संजय लीला भंसाली ने जो रणबीर और सोनम के करियर के साथ यहां किया था ना उसकी कोई माफी नहीं है। इतना सुंदर कपल और इतनी बोरिंग फिल्म जो कि लव स्टोरी भी नहीं थी। कौन देखता! ऊपर से शाहरूख की पूरी मसाला फिल्म।
    मैं और मिसेज़ खन्ना Vs ब्लू

    मैं और मिसेज़ खन्ना Vs ब्लू

    नतीजा - ज़रा अगली तस्वीर में बताते हैं नतीजा

    इन दोनों ही फिल्मों को दर्शकों ने नकार दिया था। कारण था ब्लू तो देखने लायक थी ही नहीं और मैं और मिसेज़ खन्ना में बेसिर पैर की कॉमेडी, रोमांस, इमोशन, ड्रामा सब कुछ था।
    ऑल द बेस्ट

    ऑल द बेस्ट

    इस साल लोगों ने देखी थी ऑल दे बेस्ट। मैं और मिसेज़ खन्ना - ब्लू ने बॉक्स ऑफिस पर पानी तक नहीं मांगा था। पॉइंट बिल्कुल साफ था। लोगों का पूरा इंटरटेनमेंट ऑल द बेस्ट ने किया था।

    एक्शन रीप्ले Vs गोलमाल 3

    एक्शन रीप्ले Vs गोलमाल 3

    नतीजा - गोलमाल 3

    हालांकि एक्शन रीप्ले में चलने वाले सारे लक्षण थे लेकिन फिल्म की कॉमेडी बिना किसी बात की निकली और ऐश्वर्या राय की ओवरएक्टिंग लोग झेल ही नहीं पाए।

    सन ऑफ सरदार Vs जब तक है जान

    सन ऑफ सरदार Vs जब तक है जान

    नतीजा - दोनों फिल्मों ने बांटी दीवाली

    इसका कारण था कि दोनों ही फिल्में बेसिर पैर की थी। लेकिन दर्शकों के पास तीसरा कोई ऑप्शन नहीं था। इसलिए उन्होंने दोनों में से कोई एक चुन ली!
    वीर ज़ारा Vs ऐतराज़

    वीर ज़ारा Vs ऐतराज़

    नतीजा - वीर ज़ारा

    हालांकि ऐतराज़ ने भी अपने लिए काफी माहौल बना लिया था लेकिन वीर ज़ारा ने ये जंग जीती थी। पर लोगों ने ऐतराज़ भी बाद में देखी। क्योंकि दोनों ही फिल्मों का कंटेंट बेहतरीन था।
    नाच

    नाच

    ऐतराज़ और वीर ज़ारा के आगे, रामगोपाल वर्मा ने अपनी एक अजीब सी फिल्म रिलीज़ की थी नाच। फिल्म एक कोरियोग्राफर की कहानी थी। और फिल्म के हीरो थे अभिषेक बच्चन। अब समझ आया कि उनके करियर में गलती कहां कहां और कैसी कैसी हुई है!

    गरम मसाला Vs क्योंकि

    गरम मसाला Vs क्योंकि

    नतीजा - गरम मसाला

    क्योंकि एक बोरिंग सी लव स्टोरी थी वो भी ट्रैजेडी के साथ। ऊपर से फिल्म में सलमान खान पागल बने थे। करीना कपूर डॉक्टर। सारा किस्सा ही समाप्त हो गया।
    गोलमाल रिटर्न्स Vs फैशन

    गोलमाल रिटर्न्स Vs फैशन

    नतीजा - गोलमाल रिटर्न्स

    हालांकि फैशन को बाद में लोगों ने देखा भी और सराहा भी लेकिन दीवाली बॉक्स ऑफिस गोलमाल रिटर्न्स लेकर गई थी।
    बड़े मियां छोटे मियां Vs कुछ कुछ होता है

    बड़े मियां छोटे मियां Vs कुछ कुछ होता है

    नतीजा - कुछ कुछ होता है

    हालांकि बड़े मियां छोटे मियां को भी लोगों ने काफी इंजॉय किया था लेकिन तब तक अमिताभ बच्चन बासी हो चुके थे। और उस दौर का फ्लेवर था रोमांस और शाहरूख खान!
    English summary
    Biggest Diwali clashes of Bollywood at the Box Office. The result will certainly surprise you!
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X