»   » अजय देवगन को खुला चैलेंज..धमाकेदार कहानी के साथ...दो दिन में फैसला !

अजय देवगन को खुला चैलेंज..धमाकेदार कहानी के साथ...दो दिन में फैसला !

By: shivani verma
Subscribe to Filmibeat Hindi

इस बार बॉक्स ऑफिस पर हिंदी फिल्मों अजय देवगन की फिल्म बादशाहो और आयुष्मान खुराना और पेडनेकर की फिल्म शुभ मंगल सावधान का क्लैश हो रहा है। एक ओर बादशाहो अजय देवगन जैसे सुपरस्टार ला रहे हैं तो वहीं दूसरी ओर शुभ मंगल सावधान भी काफी दिलचस्प लग रही है।

हाल ही में भूमि पेडनेकर की रिलीज़ हुई फिल्म टॉयलेट एक प्रेम कथा ब्लॉकबस्टर हो गई है जिसके बाद से भूमि की लोग काफी तारीफें कर रहे हैं।

ayushmann-khurrana-bhumi-pednekar-s-shubh-mangal-saavdhan-full-story

तो वहीं आयुष्मान खुराना की बरेली की बर्फी भी धमाका कर रही है। और अब ये दोनो हिट स्टार एक साथ शुभ मंगल सावधान लेकर आ रहे हैं तो लोगों में एक्साइटमेंट बननी लाज़मी है।

तो इसी बात पर हम आपकी एक्साइटमेंट थोड़ी और बढ़ा देते हैं इस फिल्म की पूरी कहानी बताकर..चलिए नज़र डालते हैं इस फिल्म की कहानी पर..

मुदित और सुगंधा की कहानी

मुदित और सुगंधा की कहानी

ये कहानी है मुदित और सुगंधा की। मुदित का किरदार निभा रहे हैं आयुष्मान खुराना और सुगंधा का किरदार निभा रही हैं भूमि पेडनेकर।

दोनों की शादी तय

दोनों की शादी तय

मुदित एक नॉन कूल ब्वॉय है तो वहीं सुगंधी भी नॉन हॉट गर्ल है। मुदित और सुगंधा की शादी तय हो जाती है।

ऐसी है सुगंधा

ऐसी है सुगंधा

सुगंधा एक एेसी लड़की है जिसे सिंपल तरीके से शादी नहीं करनी। वो चाहती है कि कोई लड़का उसे प्रपोज करे और फिर वो छुपकर मिले। इसके बाद रोमांस हो और वो प्यार के करंट को महसूस कर पाए।

मुदित को बीमारी

मुदित को बीमारी

वहीं फिल्म में यू-टर्न तब आता है जब आयुष्मान यानी मुदित को पता चलता है कि वो इनफर्टिलिटी बीमारी से पीड़ित है।

 रति क्रिया में कमजोर

रति क्रिया में कमजोर

इसका मतलब ये हुआ कि वो रति क्रिया में कमजोर रहेगा। यह बात दोनों परिवारों को पता चलती है तो वे शादी तोड़ने पर उतारू हो जाते हैं।

 हास्यास्पद बातें

हास्यास्पद बातें

इसी दौरान फिल्म में हास्यास्पद बातें होती हैं। डबल मीनिंग बातें होती नज़र आएंगी आपको फिल्म में।

शादी तोड़ने की धमकी

शादी तोड़ने की धमकी

मुदित पूरी कोशिश करता है कि वो अपनी इस बीमारी का इलाज करवाए। उसे लड़की के घरवाले बार बार ताने मारते हैं, शादी तोड़ने की धमकी भी देते हैं।

सुगंधा का प्यार

सुगंधा का प्यार

लेकिन एक समय आता है कि मुदित पर सुगंधा का प्यार इस कद्र सवार होता है कि वो सुगंधा के पिता को इतना तक कह देता है कि शादी तोड़कर दिखाओ..वो लड़की को उठाकर ले जाएगा।

पुरुष नपुंसकता पर आधारित

पुरुष नपुंसकता पर आधारित

देखा जाए तो ये फिल्म पुरुष नपुंसकता पर आधारित है। मेल इन्फर्टिलिटी को इस समाज में अच्छी नज़र से नहीं देखा जाता और बीमारी से ज्यादा इसे कमज़ोरी समझा जाता है।

 1 सितंबर का इंतज़ार

1 सितंबर का इंतज़ार

अब अपनी इस बीमारी को दूर करने के लिए मुदित क्या करेगा, उसके 1 सितंबर तक का इंतज़ार करना पड़ेगा।

English summary
Ayushmann Khurrana Bhumi Pednekar's Shubh Mangal Saavdhan Full Story.
Please Wait while comments are loading...