For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    "बाहुबली" 2 से भी बड़ी हिट थी अमिताभ बच्चन, ऋषि कपूर की ये फिल्म- बिग बी ने शेयर की Rare PHOTOS

    |

    साल 1997 में रिलीज हुई ब्लॉकबस्टर फिल्म 'अमर अकबर एंथनी' को आज 43 साल हो चुके हैं। अमिताभ बच्चन, ऋषि कपूर, विनोद खन्ना, शबाना आज़मी, परवीन बॉबी और नीतू सिंह स्टारर यह फिल्म कमाई के मामले में बाहुबली 2 से भी आगे रही थी। अमिताभ बच्चन ने इस मौके पर फिल्म से जुड़ी अनदेखी तस्वीरें और कुछ किस्से शेयर किये हैं। साथ ही बताया कि इस फिल्म ने उस वक्त 7.25 करोड़ का बॉक्स ऑफिस कलेक्शन किया था, जो कि आज के लिहाज से बाहुबली 2 से भी ज्यादा है।

    मनमोहन देसाई के निर्देशन और प्रोडक्शन में बनी यह फिल्म तीन बच्चों के बिछड़ने और मिलने की कहानी है। उस वक्त फिल्म अपने जबरदस्त कास्ट को लेकर काफी चर्चा में रही थी।

    27 मई, 1977 को रिलीज हुई 'अमर अकबर एंथनी' उस साल की सबसे ज्यादा कमाने वाली फिल्म थी। इस फिल्म को बाद में तमिल, तेलुगु और मलयालम भाषा में भी रीमेक किया गया था। इस फिल्म के संवाद कादर खान ने लिखे थे, जो कि बहुत ही पॉपुलर रहे।

    बिग बी ने शेयर की तस्वीर

    बिग बी ने शेयर की तस्वीर

    इस फोटो को शेयर करते हुए बिग बी ने लिखा- ''श्वेता और अभिषेक फिल्म अमर अकबर एंथनी के सेट पर मुझसे मिलने आए थे। इस समय मैं हॉलिडे इन बॉल रूम में गाने 'माई नेम इज एंथोनी गोंसाल्वेस' की शूटिंग कर रहा था। यह फोटो बीच फ्रंट की है।''

    आइडिया सुनकर अमिताभ का रिएक्शन

    आइडिया सुनकर अमिताभ का रिएक्शन

    साथ ही उन्होंने बताया, "जब मनमोहन देसाई (फिल्म के डायरेक्टर) ने मेरे पास आकर मुझे इसका आइडिया और फिल्म का नाम बताया तो मुझे लगा कि वो पागल हो गए हैं। उस समय 70 के दशक में फिल्मों के नाम बहन भाभी और बेटी हुआ करता था और यह पूरी तरह अलग था। लेकिन... ' मालूम हुआ कि फिल्म ने शानदार कमाई किया।"

    इस तस्वीर में आप फिल्म के कास्ट के साथ धर्मेंद्र को देख सकते हैं। बता दें, धर्मेंद्र को पहले अमर के रोल के लिए अप्रोच किया गया था, लेकिन वो उस वक्त कई फिल्में कर रहे थे, लिहाजा उन्होंने रोल को छोटा करने की मांग की। लेकिन निर्देशक नहीं माने।

    25 हफ्तों तक लगी रही थी फिल्म

    25 हफ्तों तक लगी रही थी फिल्म

    अमिताभ बच्चन ने इमोशनल हो कर लिखा कि फिल्म स‍िर्फ मुंबई में ही 25 हफ्तों तक 25 स‍िनेमाघरों पर लगी रही थी। अब ऐसा नहीं होता.. वो दिन बीत गए।

    बता दें कि 1975 में देश में लगी इमेरजेंसी की वजह से फिल्म को बनने में देरी हुई थी। और फिर यह 1977 में रिलीज हुई।

    कैसे आया था कहानी का आइडिया

    कैसे आया था कहानी का आइडिया

    रोज की तरह मनमोहन देसाई एक सुबह अखबार पढ़ रहे थे। अखबार में आई एक खबर पढ़कर उन्हें शाम होते-होते फिल्म बनाने का आइडिया आ गया। आइडिया के साथ ही उन्होंने कहानी भी सोच ली। अखबार में खबर छपी थी कि एक व्यक्ति अपने तीन बेटों को लेकर पार्क गया और बेटों में पार्क में ही छोड़कर चला गया और आत्महत्या कर ली। ये ही बात देसाई के दिल को छू गई थी।

    बेस्ट एक्टर का अवार्ड

    बेस्ट एक्टर का अवार्ड

    इस फिल्म के लिए अमिताभ बच्चन को फिल्मफेयर बेस्ट एक्टर दिया गया था। साथ ही लक्ष्मीकांत- प्यारेलाल को सर्वश्रेष्ठ संगीतकार और फिल्म को बेस्ट एडिटिंग के लिए भी अवार्ड मिला।

    मजेदार मिस्टेक

    मजेदार मिस्टेक

    इस फिल्म में जब नीतू कपूर और ऋषि कपूर की एंट्री होती है तो ऋषि का किरदार अकबर इलाहाबादी डॉक्टर सलमा (नीतू कपूर) को उनके रियल नाम से बुलाते हैं। यानि की फिल्म में अकबर इलाहाबादी डॉ सलमा नहीं बल्कि नीतू कहकर बुलाते हैं। खास बात है कि इस सीन को फिल्म से हटाया भी नहीं गया।

    ऐश्वर्या राय की पुरानी तस्वीरों का तहलका, सोशल मीडिया पर वायरल "मिस वर्ल्ड टूर" से अनदेखी तस्वीरें

    English summary
    Amar Akbar Anthony clocks 43 Years of it's release. Amitabh Bachchan shares unseen photos and some details of the film.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X