»   » आमिर खान हैं हर सुपरस्टार से अलग..सबसे अलग..सबसे बेहतर!

आमिर खान हैं हर सुपरस्टार से अलग..सबसे अलग..सबसे बेहतर!

Written By: Shweta
Subscribe to Filmibeat Hindi

बॉलीवुड में तीन खान यानी शाहरूख खान, सलमान खान और आमिर खान का दबदबा पिछले कई सालों से हैं जब भी किसी सुपरस्टार की फिल्म रिलीज होती है तो फैन्स की खुशी देखने लायक होती है। लोग काफी समय से दंगल का इंतजार कर रहे थे। 

[फिल्म रिव्यू: दंगल...ना ऐसी धमाकेदार फिल्म देखी होगी....ना ऐसे धाकड़ बाप - बेटी!]

आमिर खान साल-दो साल में एक फिल्म करते हैं लिहाजा उनके फैन्स खासकर बेसब्री से उनका इंतजार करते हैं। आमिर खान दंगल में सिर्फ तारीफ ही तारीफ बटोर रहे हैं और देखा जाए तो आमिर खान शख्सियत ही ऐसे हैं,वो अपने आप में बेहद अलग हैं इसे दर्शक हो या बॉलीवुड हर कोई मानता है। जानिए कैसे अलग हैं आमिर खान बाकियों से। 

कोई जल्दबाजी नहीं

कोई जल्दबाजी नहीं

आमिर खान एक ऐसे एक्टर जो कभी भी फिल्में जल्दबाजी में नहीं करते बल्कि वो हर फिल्म करने से पहले पूरा समय लेते हैं और एक बार में एक ही फिल्म करते हैं।

मूवी सिर्फ एंटरटेनमेंट नहीं

मूवी सिर्फ एंटरटेनमेंट नहीं

डर्टी पिक्चर का डॉयलग था फिल्में तीन चीजों की वजह से चलती है इंटरटेनमेंट ..इंटरटेनमेंट..इंटरटेनमेंट लेकिन आमिर खान ने इसे गलत कर दिया और लगान, तारे जमीन पर, थ्री इडियट जैसी कई फिल्में कर दिखा दिया की फिल्म सिर्फ इंटरटेनमेंट नहीं है।

अवार्ड..वो क्या होता है

अवार्ड..वो क्या होता है

अर्वाड को सबसे पहले कम ध्यान देने वाले एक्टर आमिर खान हैं जिनके लिए अर्वाड मायने नहीं रखता बाद में इस लिस्ट में अजय देवगन भी जुड़ गए।

हमेशा रखते हैं खुद को मेनटेन

हमेशा रखते हैं खुद को मेनटेन

आमिर खान को सबसे इलिट खान कहना गलत नहीं होगा। वो अपनी हर चीज को मेनटेन कर के चलते है। ना कभी कंट्रवर्सी में पड़ना और ना ज्यादा पार्टी या शो में दिखना उन्हें शाहरूख और सलमान से अलग बनाता है।

टीवी को दी अलग पहचान

टीवी को दी अलग पहचान

बॉलीवुड ने टीवी की तरफ रूख केबीसी में अमिताभ के होस्ट करने के बाद किया। लेकिन टीवी का दूसरा नाम इडियट बॉक्स को गलत भी प्रूव आमिर खान ने किया। क्रिएटिव टीम के साथ रिर्सच कर उन्होंने सत्यमेव जयते बनाया जिसनेगहरी छाप छोड़ और आमिर खान को पार्लियामेंट में स्पीच देने बुलाया गया।

मिर्च-मसाला नहीं

मिर्च-मसाला नहीं

फिल्मों में ज्यादा मिर्च मसाला नहीं और सीधे सपाट और बिल्कुल सोच समझकर फिल्म बनाते हैं ताकि उनके फैन्स की उम्मीदों पर वो खड़े उतर सकें।

सिर्फ स्क्रिप्ट रखती है मायने

सिर्फ स्क्रिप्ट रखती है मायने

फिल्म साइन करने के लिए जो चीज आमिर खान के लिए मैटर करती है वो फिल्म की स्क्रिप्ट। फिल्म की स्क्रिप्ट उन्हें पसंद आए तो वो उसमें फिर वो जी जान लगा देते हैं।

एडवाइडिंग में सबसे आगे

एडवाइडिंग में सबसे आगे

आमिर खान विज्ञापन भी चुनते हैं तो ये ख्याल रखते हैं कि उसमें क्रिएटिविटी हो क्योंकि उनका मानना है कि 30 सेकेंड का वो विज्ञापन भी लोगों के दिमाग में गहरी छाप छोड़ता है।

English summary
Aamir Khan is different from Shahrukh Khan and Salman Khan.Read how.
Please Wait while comments are loading...

रहें फिल्म इंडस्ट्री की हर खबर से अपडेट और पाएं मूवी रिव्यूज - Filmibeat Hindi