»   » बॉक्स ऑफिस तहलका.. ब्लॉकबस्टर फिल्म.. दो सुपरस्टार्स ने किया था REJECT

बॉक्स ऑफिस तहलका.. ब्लॉकबस्टर फिल्म.. दो सुपरस्टार्स ने किया था REJECT

Written By:
Subscribe to Filmibeat Hindi

अमिताभ बच्चन की सुपरहिट फिल्म डॉन को रिलीज हुए आज 40 साल हो चुके हैं। ऐसे में इस फिल्म से जुड़ी कुछ दिलचस्प बातें सामने आई हैं। बता दें, अमिताभ बच्चन के फाइनल होने से पहले इस फिल्म को देव आनंद और धर्मेंद्र जैसे सुपरस्टार ने रिजेक्ट कर दिया था। खैर, फिल्म में अमिताभ बच्चन ने डबल रोल निभाया था और बॉक्स ऑफिस पर तहलका मचा दिया था।

Amitabh Bachchan

पीटीआई को दिये इंटरव्यू में फिल्म के निर्देशक चंद्रा बरोत ने डॉन से संबंधित कई बातें शेयर की हैं, जो शायद ही किसी को पता है। उन्होंने फिल्म की कई दिलचस्प पहलूओं को सामने रखा है।

मदद के लिए बनाई गई थी डॉन

मदद के लिए बनाई गई थी डॉन

चंद्रा बरोत लंबे समय से मनोज कुमार के साथ बतौर एसिसटेंट डाइरेक्टर का काम कर रहे थे। लिहाजा, फिल्म रोटी, कपड़ा और मकान के दौरान वो अमिताभ बच्चन और जीनत अमान के भी अच्छे दोस्त बन गए थे।
साथ ही इन सबकी दोस्ती फिल्म के सिनेमेटोग्राफर नरिमन ईरानी से भी हो गई थी। साल 1972 में ईरानी ने सुनील दत्त और वहीदा रहमान को लेकर फिल्म बनाई 'जिंदगी जिंदगी'.. जो बॉक्स ऑफिस पर बुरी तरह फ्लॉप हो गई और ईरानी कर्ज में डूब गए।

चंद्रा बरोत ने कहा, चूंकि हम सब अच्छे दोस्त बन चुके थे और साथ काम कर रहे थे। अमिताभ, जीन, प्राण सभी ने मिलकर ईरानी की मदद करने की ठानी।

सलीम खान से मुलाकात.. और बना डॉन

सलीम खान से मुलाकात.. और बना डॉन

चंद्रा बरोत ने बताया कि ईरानी की पत्नी सलीम खान को जानती थीं। लिहाजा, जब हम सब सलीम खान ने मिले.. तो उनके पास स्क्रिप्ट नहीं थी। लेकिन उन्होंने कहा कि एक कहानी है.. जिसे कोई समझ नहीं रहा है।

बता दें, उस वक्त हम सबने 'ठाकुर' शब्द सुन रखे थे.. लेकिन डॉन शब्द हम सबके लिए काफी नया था।

सुपरस्टार्स ने किया रिजेक्ट

सुपरस्टार्स ने किया रिजेक्ट

फिल्म को धर्मेंद्र, जीतेंद्र और देव आनंद ने रिजेक्ट कर दिया था। लेकिन हमने ठान ली थी कि हम पोस्टर पर सलीम- जावेद देखना चाहते हैं। स्क्रिप्ट तैयार थी और हमने तुरंत उसे ले लिया था। उस वक्त फिल्म का नाम भी नहीं था। सभी उसे 'डॉन वाली स्क्रिप्ट' कहते थे।

खईके पान बनारस वाला

खईके पान बनारस वाला

डॉन में सिर्फ 'ये मेरा दिल' ही नहीं.. बल्कि अमिताभ बच्चन पर फिल्माया गाना 'खईके पान बनारस वाला' भी बहुत चर्चित रहा था। इस पर निर्देशक बताते हैं कि खईके पान बनारस वाला गाना फिल्म में सबसे अंत में जोड़ा गया था।

फिल्म पूरी बन चुकी थी.. और मनोज कुमार ने देखी। उन्होंने देखते ही कहा कि फिल्म के सेकेंड हॉफ को इतना टाइट रखा गया था, दर्शक बोर हो जाएंगे। प्लीज एक गाना जोड़ दें.. ताकि दर्शक को एक ब्रेक मिल सके।

अमिताभ को लगी थी चोट

अमिताभ को लगी थी चोट

निर्देशक ने कहा कि आप गाने को देंखेगे तो कई जगह अमिताभ लंगड़ाते दिख रहे हैं। वह कोई कोरियोग्राफी नहीं है.. बल्कि उन्हें सच में चोट लगी थी। उस वक्त अमिताभ लावारिस की शूटिंग भी कर रहे थे।

अमिताभ ने खाए थे 30-40 पान

अमिताभ ने खाए थे 30-40 पान

फिल्म में विजय पर फिल्माया गाना है- ये है बॉम्बे नगरीया.. निर्देशक फिल्म 'नया दिन, नई रात' के संजीव कुमार लुक से काफी प्रभावित थे। लिहाजा, उन्होंने भी अपने हीरो को लुंगी पहने दिखाया.. जो पान चबाता रहता है। इस गाने के लिए अमिताभ बच्चन को 30-40 पान खाने पड़े थे।

चंद्रा बरोत फिल्म की रिलीज को याद करते हुए कहते हैं- मुझे आज भी याद है.. एडवांस बुकिंग के लिए इतनी लंबी लाइन लगी थी.. मेरे पास उसकी फोटो भी है। दुख की बात है कि ईरानी फिल्म रिलीज होने से 6 महीने पहले ही चल बसे थे। लेकिन यह उत्साहित होने वाली है कि एक ऐसी फिल्म.. जिसे कोई नहीं बनाना चाहता था.. वह बनी और सबसे जीवन का अहम हिस्सा बन गई। 

निर्देशक ने बताया कि इस फिल्म के लिए सबने अपनी फीस में भी कटौती की थी। अमिताभ बच्चन ने फिल्म को ढ़ाई लाख में साइन किया था.. लेकिन उन्होंने सिर्फ डेढ़ लाख ही लिया। जीनत ने कोई फीस नहीं ली थी। वहीं, प्राण साहब जिन्हें 5 लाख में साइन किया गया.. उन्होंने भी आधी फीस काट दी थी। 

English summary
Amitabh Bachchan's Don completed 40 years today. Here know the unknown and lesser know facts of this blockbuster film.

रहें फिल्म इंडस्ट्री की हर खबर से अपडेट और पाएं मूवी रिव्यूज - Filmibeat Hindi

X