»   » CLEAR HAI: टिकट तक नहीं बेच पा रहे सलमान - आमिर, कहां लेंगे बाहुबली 2 से टक्कर!

CLEAR HAI: टिकट तक नहीं बेच पा रहे सलमान - आमिर, कहां लेंगे बाहुबली 2 से टक्कर!

Written By:
Subscribe to Filmibeat Hindi

कोई कितना भी मना कर ले लेकिन बाहुबली 2 ने बॉलीवुड को आसमान से सीधा ज़मीन पर लाकर पटक दिया है। दरअसल सीधी बात ये है कि बाहुबली 2 की तुलना बॉलीवुड की सबसे बड़ी फिल्मों से की गई और आमिर खान की दंगल - सलमान खान की सुलतान इस लिस्ट में सबसे ऊपर थे।

बाहुबली भारत में करीब 7000 स्क्रीन पर रिलीज़ हुई। दंगल और सुलतान करीब 5000 स्क्रीन पर रिलीज़ हुई थी लेकिन फिर भी दोनों फिल्मों में कोई तुलना नहीं है। कारण है दर्शकों का ना होना।

salman-khan-s-sultan-or-aamir-khan-s-dangal-cannot-beat-prabhas-baahubali-2

दरअसल, ज़्यादा थियेटर में फिल्म लगने से या ज़्यादा शो होने से फिल्म नहीं चलती है। फिल्म चलती है तब जब दर्शक थियेटर तक पहुंचे। बाहुबली 2 की occupancy तीन दिन तक लगातार लगभग 95 प्रतिशत थी।

इसके बाद भी फिल्म एक हफ्ते तक 80 प्रतिशत की Occupancy पर टिकी रही। यानि कि दर्शक थियेटर तक पहुंचे। वहीं दूसरी तरफ सलमान की सुलतान हो या आमिर खान की दंगल। दोनों ही फिल्मों ने 80 प्रतिशत की ओपनिंग Occupancy दर्ज कराई जो अगले ही दिन 60 और 50 प्रतिशत पर लुढ़की।

इसलिए ये कहना कि दंगल - सुलतान की इतनी कमाई नहीं हुई क्योंकि थियेटर कम थे गलत दलील है। बाहुबली ने अपनी 7000 स्क्रीन की एक एक सीट का उपयोग किया और वो मायने रखता है । और अगर हर सीट बिकी मतलब कि लोग फिल्म देखना चाहते थे।

कंटेंट से जीत गई है बाहुबली 2

कंटेंट से जीत गई है बाहुबली 2

कंटेंट एक ऐसी चीज़ है जो या तो बॉलीवुड में ठीक से सामने नहीं आ पाता या फिर ऐसे ही बड़े खान - कपूर की फिल्मों में छिप जाता है। वहीं टिकट बिक्री ऐसी समस्या है जिससे हम बुरी तरह जूझ रहे हैं। देखा जाए तो फिलहाल बॉलीवुड में तीन ही काम के स्टार है -आमिर खान, सलमान खान और अक्षय कुमार। जानिए कैसे बाहुबली ने बॉलीवुड की आंखें खोल दी है

बिना खान...काम तमाम

बिना खान...काम तमाम

बिना किसी खान के नाम के फिल्मों का 200 करोड़ पार करना बहुत टेढ़ी खीर हो जाता है। वहीं बॉलीवुड को कड़ी टक्कर दे रही हैं हॉलीवुड फिल्में। द जंगल बुक, स्पाईडरमैन, एवेंजर्स जैसी फिल्मों ने हाल ही में ताबड़तोड़ कमाई की। और यहां कि फिल्मों का भट्ठा बैठाया।

कम हो गई टिकट बिक्री

कम हो गई टिकट बिक्री

पिछले कुछ सालों में हिंदी फिल्मों की टिकट बिक्री काफी कम हुई है। 2013 में कुल 33 करोड़ टिकट की बिक्री हुई जो 2014 में गिरकर 32 करोड़ हो गई थी। पिछले दो सालों में ये आंकड़ा घटकर और कम हो गया।

घटता जा रहा स्तर

घटता जा रहा स्तर

2015 - 16 में सालाना टिकट बिक्री थी 30 करोड़। गौरतलब है कि 2013 से 2016 तक में टिकट बिक्री में 10 प्रतिशत गिरावट आई है। वो भी तब जब हर फिल्म के साथ फिल्म का स्क्रीन काउंट बढ़ता जा रहा है।

सलमान खान, आमिर खान और अक्षय कुमार

सलमान खान, आमिर खान और अक्षय कुमार

पिछले चार सालों में 125 करोड़ टिकट की बिक्री हुई है और इनमें ज़्यादातर टिकट सलमान खान, आमिर खान और अक्षय कुमार की फिल्मों के लिए थे। अक्षय कुमार ने भले ही ब्लॉकबस्टर फिल्में ना दी हों लेकिन कम से कम पिछले 4 सालों में 12 फिल्में देकर उन्होंने करीब 10 करोड़ टिकट बिक्री का ज़िम्मा लिया।

अक्षय कुमार हैं बचाते हैं इज़्जत

अक्षय कुमार हैं बचाते हैं इज़्जत

ज़ाहिर सी बात है कि अक्षय कुमार डिस्ट्रीब्यूटर के लिए संजीवनी बूटी का काम कर रहे हैं। उनकी फिल्म आने से डिस्ट्रीब्यूटर की जान में जान आती है कि कम से कम टिकट तो बिकेंगी।

दर्शक ही नहीं हैं!

दर्शक ही नहीं हैं!

वहीं सलमान खान साल में एक या दो फिल्में करते हैं और आमिर खान दो साल में एक फिल्म करते हैं। यही हाल ऋतिक रोशन का है तो दूसरी तरफ शाहरूख खान की फिल्में अब दर्शकों को टिकट खिड़की तक खींच कर ला नहीं पा रही हैं।

नहीं है कोई और स्टार

नहीं है कोई और स्टार

इसका साफ साफ मतलब ये है कि अगर टॉप तीन स्टार्स यानि कि आमिर खान, सलमान खान और अक्षय कुमार को छोड़ दिया जाए तो बॉलीवुड में टिकट बिकना नामुमकिन बात होती जा रही है।

हर हफ्ते होता है क्लैश

हर हफ्ते होता है क्लैश

इसके अलावा बॉलीवुड एक साथ आगे बढ़ने की बजाय एक दूसरे की फिल्मों से क्लैश करने में लगा हुआ है जो पूरी इंडस्ट्री का बिज़नेस और ज़्यादा खराब कर रहे हैं। हर हफ्ते एक नए क्लैश का अनाउंसमेंट हो जाता है।

95 प्रतिशत घाटे में फिल्में

95 प्रतिशत घाटे में फिल्में

गौरतलब है कि साल भर में बॉलीवुड में जितनी फिल्में रिलीज़ होती हैं उनमें से 95 प्रतिशत घाटे में रहती हैं। इसके बावजूद हम देश में सबसे ज़्यादा रोमांटिक कॉमे़डी बनाते हैं। करण जौहर और आदित्य चोपड़ा जैसे डायरेक्टर अब केवल हाई सोसाइटी के लिए फिल्में बनाते हैं।

बॉलीवुड तरक्की कर रहा है?

बॉलीवुड तरक्की कर रहा है?

आजकल फिल्में एक खास दर्शक वर्ग के लिए बनती हैं, 2 - 4 बड़े शहरों के बड़े लोगों के बीच वो फिल्में पॉपुलर हो जाती हैं और लोग खुश हो जाते हैं कि बॉलीवुड तरक्की कर रहा है। और वो लोग भी बेफिक्रे जैसी फिल्म नहीं देखना चाहते हैं।

लगातार बढ़ रहा खतरा

लगातार बढ़ रहा खतरा

वहीं अगर उन फिल्मों की बात करें जहां कहानी स्टार होती है और स्टारकास्ट पर किसी का ध्यान नहीं जाता तो ऐसी फिल्में भी बहुत कम ऐसे एंगल से बनाई जाती हैं कि चल जाएं। तनु वेड्स मनु इसी का उदाहरण थी। फिल्म के सीक्वल ने 150 करोड़ की कमाई की। इसके अलावा ऐसी किसी फिल्म ने इतनी कमाई नहीं की।

English summary
Salman Khan’s Sultan or Aamir Khan’s Dangal cannot beat Prabhas’ Baahubali 2.
Please Wait while comments are loading...