»   » #BoxOffice: मैं नहीं मानता कि मेरी फिल्में ब्लॉकबस्टर हो जाएं!

#BoxOffice: मैं नहीं मानता कि मेरी फिल्में ब्लॉकबस्टर हो जाएं!

Written By:
Subscribe to Filmibeat Hindi

नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी ने अपनी आने वाली फिल्म मॉम पर बात की लेकिन इसके साथ ही बॉक्स ऑफिस नंबर पर भी दिल खोलकर बात की। और इस दौरान उन्होंने दो बड़ी अच्छी बातें कही।

पहली ये कि बॉक्स ऑफिस पर कुछ फिल्में नहीं चलती। क्योंकि वो बॉक्स ऑफिस आंकड़ों के लिए नहीं बनाई जाती हैं। ये फिल्में, बॉक्स ऑफिस से कहीं ज़्यादा आगे की होती हैं।

nawazuddin-siddiqui-admits-box-office-numbers-don-t-bother-him

वहीं दूसरी तरफ, उन्होंने अपनी फिल्मों के बारे में बात करते हुए कहा कि मुझे बॉक्स ऑफिस के आंकड़ों से ज़्यादा फर्क नहीं पड़ता। उन्होंने बताया कि मैं कभी ये नहीं मनाता कि मेरी फिल्म बॉक्स ऑफिस पर धुंआधार कमाई करे।

गौरतलब है कि बॉक्स ऑफिस आंकड़ों को लेकर बॉलीवुड दो भागों में बंटा रहता है। कुछ एक्टर्स और डायरेक्टर ऐसे होते हैं जिन्हें इन आंकड़ों से काफी फर्क पड़ता है।

वहीं दूसरी तरफ अमिताभ बच्चन जैसे एक्टर ये बात साफ तौर पर स्वीकार कर चुके हैं कि मैं अपने बल पर कभी 100 करोड़ की फिल्म नहीं दे सकता। ये मैं भी जानता हूं और मेरे प्रोड्यूसर भी।

वैसे नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी की फिल्में भले ही बॉक्स ऑफिस आंकड़ों में पीछे रह जाती हों लेकिन पिछले साल कुछ फिल्में थीं जिन्हें ना देखना भूल थी। भले ही उन्होंने बॉक्स ऑफिस पर कमाई की हो या ना की हो

2016 की MUST WATCH फिल्में

2016 की MUST WATCH फिल्में

एक बार फिर से हम लेकर आए हैं 2016 की बेस्ट फिल्मों की लिस्ट। वो फिल्में जिन्होंने जीता हो या ना जीता हो पर दर्शकों का दिल ज़रूर जीता। आप भी फटाफट ये लिस्ट देखिए और अगर इनमें से कोई भी फिल्म छूटी हो तो बिना देऱ किए किसी भी तरह उस फिल्म का इंतज़ाम करिए और देख डालिए। बाद में हमें मत कहिएगा कि हमने बताया नहींं था। ये हैं 2016 की MUST WATCH फिल्में -

एयरलिफ्ट

एयरलिफ्ट

साल की शुरूआत हुई अक्षय कुमार की इस धमाकेदार फिल्म से। फिल्म में केवल एक ही बात थी - देशभक्ति का जज़्बा। हालांकि कहानी में ड्रामा ज़्यादा था और कंट्रोवर्सी भी काफी थी लेकिन फिल्म केवल एक अछ्छी फिल्म होने के नाते देखनी चाहिए।

नीरजा

नीरजा

नीरजा इस साल की सबसे ज़्यादा प्रॉफिट कमाने वाली फिल्म है और इसकी वजह है फिल्म की सरप्राइज़ सक्सेस। किसी को लगा ही नहीं कि फिल्म में इतना दम होगा। हालांकि फिल्म में सोनम कपूर हैं, फिर भी फिल्म बेहतरीन हैं और उन्होंने मेहनत की है।

अलीगढ़

अलीगढ़

ज़्यादातर लोगों से ये फिल्म छूट गई होगी। लेकिन इसलिए ही शायद डीवीडी होती हैं। क्योंकि अगर आपने इस साल अलीगढ़ मुस्लिम के इस गे प्रोफेसर की कहानी नहीं सुनी हैं तो आप काफी कुछ मिस कर रहे हैं।

कपूर एंड सन्स

कपूर एंड सन्स

हालांकि कपूर एंड सन्स पूरी तरह से कॉमर्शियल फिल्म थी लेकिन फिर भी फिल्म को इस लिस्ट में रखना ज़रूरी है इसकी कहानी की वजह से। एक बेहतरीन फैमिली फिल्म, जो आपको मिस नहीं करनी चाहिए।

 निल बटे सन्नाटा

निल बटे सन्नाटा

स्वरा भास्कर शानदार एक्टर हैं और उससे भी शानदार हैं उनकी ये फिल्म जहां मैथ्स में उनका और उनकी बेटी का डब्बा गुल है। लेकिन फिर भी फिल्म इतनी सादी और मासूम है कि आपका दिल छू लेगी।

 ट्रैफिक

ट्रैफिक

शायद आपने ट्रैफिक का नाम भी सुना हो लेकिन मनोज बाजपेयी की ये फिल्म अपनी मस्ट वॉच लिस्ट में डाल लीजिए क्योंकि ट्रैफिक एक बेहतरीन फिल्म थी जो इस साल कई लोगों से छूटी होगी। कहानी थी एक ट्रैफिक इंस्पेक्टर की जो एक दिल को भरे दिन के ट्रैफिक में एक शहर से दूसरे शहर पहुंचाता है सर्जरी के लिए।

वेटिंग

वेटिंग

कल्कि कोचलिन और नसीरूद्दीन शाह की ये फिल्म आपके दिल में उतर जाएगी। और फिल्म का सबसे अच्छा पक्ष हैं इसके संवाद जो आपको 2 घंटे बांधे रखेंगे।

धनक

धनक

इस साल की सबसे हैप्पी फिल्म। आपके चेहरे पर शुरू से अंत तक एक मुस्कान रहेगी और कारण होंगे तो नन्हें से बच्चे जो शाहरूख खान से मिलने के लिए पैदल ही चल पड़े हैं।

उड़ता पंजाब

उड़ता पंजाब

पंजाब का मतलब केवल डीडीएलजे वाले पीले सरसों के खेत और करण जौहर की शादियां और संगीत नहीं है। अगर ये बात वाकई समझनी है तो ड्रग्स की चपेट में बर्बाद हो रहे पंजाब की कहानी ज़रूर देखिए। आंखें खुल जाएंगी और होश उड़ जाएंगे।

रमन राघव

रमन राघव

इस साल की बेस्ट रोमांटिक फिल्म। हालांकि बहुत लोगों की समझ के परे होगी लेकिन फिर भी एक बार दोहराते हैं - नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी और विक्की कौशल की ये फिल्म इस साल की बेस्ट रोमांटिक फिल्म होनी चाहिए।

हैप्पी भाग जाएगी

हैप्पी भाग जाएगी

इस साल की सबसे हल्की फिल्म। हालांकि कहानी में कुछ ऐसा खास नहीं है लेकिन इस फिल्म का हर किरदार इतना शानदार था और हल्के फुल्के डायलॉग्स इतने करीने से पिरोए गए थे कि ये फिल्म इस साल की बेस्ट तनावमुक्त फिल्म होनी चाहिए।

 पिंक

पिंक

लड़का या लड़की, दिल्ली वाला या मुंबई वाला, मम्मी पापा या पति पत्नी कोई फर्क नहीं पड़ता। फिल्म हर किसी के लिए ज़रूरी है। अब फिल्म एक बेहद सशक्त उदाहरण है कि आज हमारे समाज में क्या गलत है। हर लड़की को एक ही नज़र से देखा जाता है और हर लड़की का कैरेक्टर, वो नहीं लोग तय करते हैं।

पार्च्ड

पार्च्ड

फिल्म सीधा सीधा उदाहरण है सेक्स के बारे में औरतों की सोच को लेकर फैले भ्रम का। सेक्स और महिलाएं इस देश में कितनी अलग हो जाती हैं ये देखने के लिए ये फिल्म ज़रूर देखनी चाहिए।

एस एस धोनी

एस एस धोनी

इस साल की बेस्ट कॉमर्शियल फिल्म शायद धोनी है। एक बेहतरीन बायोपिक। एक शानदार अभिनय। सधी हुई कास्ट और कसा हुआ निर्देशन। धोनी ना देखने की कोई खास वजह नहीं है। चाहे आप क्रिकेट फैन हैं या नहीं, बिहार के लिए ही फिल्म देख लीजिए।

English summary
Nawazuddin Siddiqui admits box office numbers don't bother him.
Please Wait while comments are loading...