»   » ये है मोहब्बतें..रमन खुश..इशिता भी खुश..जब ये खुश तो कौन हुआ नाखुश!

ये है मोहब्बतें..रमन खुश..इशिता भी खुश..जब ये खुश तो कौन हुआ नाखुश!

Written by: Shweta
Subscribe to Filmibeat Hindi

ऐसे ही ये है मोहब्बतें टॉप पर नहीं रहती है। किसी सीरियल में एक विलेन होते हैं यहां तो हमें जितने स्टार हैं उससे ज्यादा विलेन ही दिखने लगे हैं। अब देखिए सुरज और नीधी पहले से कम थे जो शगुन भी धीरे अपने आपको अलग महसूस करने लगी है और धीरे धीरे पुरानी शगुन होती जा रही है। 

शगुन को अच्छा नहीं लग रहा की रमन और इशिता एक दूसरे के साथ धीरे धीरे काफी खुशी खुशी रहने लगे हैं। और ये देखकर भला शगुन क्यों खुश होगी । अब वो धीरे धीरे पीहू को हथियार बनाने लगी है। 

[इस टीवी एक्ट्रेस का Bold लुक कर देगा आपको हैरान!]

इधर नीधी और सूरज प्लान बनाने में लगे हुए हैं की कैसे रूही वापस जल्दी आए और कोर्ट की कस्टडी भी मिल जाए। अब इसके लिए नीधी जज के सामने ऐसी प्लानिंग करेगी की जज भी नीधी को कस्टडी दे देंगी। 

इधर श्रवण भी सुसाइड करने की कोशिश करता है। आगे की स्लाइड पर देखिए फिलहाल क्या कुछ हो रहा है ये है मोहब्बतें में। 

प्यारी नोंकझोक

अब इशिता रमन की नोकझोक तो सीरियल में बोनस की तरह होता है। अब रमन कपड़ा बदल रहा होता है और इशिता वहां पहुंच जाती है। बस फिर क्या दोनों में मीठी तकरार शुरू हो जाती है।

शगुन की टेंशन

रमन को कमरे के बाहर इतना खुश देखकर शगुन की टेंशन और बढ़ जाती है। वैसे टेंशन तो बढ़ना भी चाहिए आखिर रमन को सात सालों में शगुन कभी खुश भी तो नहीं देखी थी।

सिक्रेट डायरी

बाला श्रण की सिक्रेट डायरी पढ़ लेता है जिसके बाद वो सदमें में चला जाता है की श्रवण उसे पसंद नहीं करता। अब बाला को टेंशन तो होगी ही लेकिन उसको अंदाजा भी नहीं होगा की आगे क्या होने वाला है।

शगुन का प्लान

शगुन पीहू से रमन और इशिता े बात करती है और पीहू से पूछती है कि उसे रमन और इशिता कैसे लगते हैं। पीहू को जो भी लगे लेकिन शगुन पीहू को बोलती है की वो पापा को बोले की मम्मा के साथ टाइम बिताए। इस बात को मिहिका सुन लेती है और बस डांट की झड़ी।

रूही गिड़ी भड़की शगुन

रूही श्रवण से साइकिल चलाना सिख रही होती है और गिर जाती है। बस फिर क्या था इसे देखकर शगुन का गुस्सा सातवे आसमान पर चला जाता है।

बस शगुन ने निकाला गुस्सा

शगुन श्रवण पर हाथ उठा देती है और उसे काफी भला बुरा कहती है और इतना कहती है की श्रवण वहां से चला जाता है। हालांकि तब तक बाला वहां पहुंच जाता है और अच्छी खासी डांट शगुन को लगाता है। 

रूही काउंसलिंग

रमन और इशिता रूही के लिए काउंसलर से मिलते हैं और रूही के बारे में बात करते हैं। इदर रमन शगुन को पीहू की पीटीएम के लिए कॉल करता है।

शगुन टशन में

शगुन रमन का कॉल काट कर फोन स्वीच ऑफ कर देती है । अब आप ही सोचिए वो रमन को सबक सिखाना चाहती है लेकिन उसे नहीं पता है की आगे क्या होगा।

इशिता जाएगी

शगुन के नहीं जाने पर पीहू की पीटीएम में रमन इशिता को लेकर जाएगा। इशिता इसके लिए तैयार भी हो जाती है। अब शगुन को शायद फोन स्वीच ऑफ करने की कीमत पता चल जाए।

आगे क्या

ये तो सब को दिख रहा की रमन और इशिता दोनो ही एक दूसरे के साथ में रहकर काफी खुश हैं। लेकिन आगे उन्हें रूही की कस्टडी के लिए बहुत कुछ प्लान करेंगे लेकिन उनकी पूरी प्लानिंग पर नीधी एक मिनट में पानी फेर देगी। 

English summary
Slowly Slowly but Shagun is feeling left out in family as she is analyzing Raman's happiness after Ishita came to house,
Please Wait while comments are loading...