»   » Review - सस्पेंस-थ्रिलर से भरपूर है 'वजह तुम हो' लेकिन दिमाग हैक हो जाएगा!

Review - सस्पेंस-थ्रिलर से भरपूर है 'वजह तुम हो' लेकिन दिमाग हैक हो जाएगा!

फिल्मी फाइड्रे में आज वजह तुम हो रिलीज हुई है। फिल्म एक सस्पेंस थ्रिलर है। पढ़िए फिल्म का रिव्य़ू

Written by: Shweta
Subscribe to Filmibeat Hindi

Rating:
2.0/5
फिल्म - वजह तम हो

कास्ट - शरमन जोशी, गुरमीत चौधरी, सना खान, रजनीश दुग्गल

प्रोड्यूसर - भूषण कुमार, कृष्णन कुमार

लेखक - विशाल पांड्या, समीरा अरोड़ा (स्टोरी)

डायरेक्टर - विशाल पांड्या

क्या है हिट- फिल्म का प्लॉट जिसके बारे में आप आखिरी तक सोचते रहेंगे

क्या है फ्लॉप- फिल्म के उटपटांग डायलोग, इंटिमेट सीन और परफॉर्मेंस

कब लें ब्रेक - सिर्फ और सिर्फ इंटरवल में

प्लॉट

फिल्म की कहानी ये है कि एक भ्रष्ट पुलिस ऑफिसर एक अंजान शख्स को ब्लैकमेल करने के लिए कॉल करता है और खुद ही मुसीबत में फंस जाता है। उसके सामने  एक लाइव मर्डर मिस्ट्री केस है। कोई अंजान शख्स ग्लोबल टाइम्स नेटवर्क के मालिक राहुल ओबरॉय (रजनीश दुग्गल) का सिस्टम हैक कर, बार-बार लाइव मर्डर टेलीकास्ट करता है। इसी वजह से शक की सुई राहुल पर आती है।

 

प्लॉट

आखिरकार मामला कोर्ट तक पहुंचता है। रणवीर (गुरमीत चौधरी) पुलिस के वकील होते हैं तो ओर सिया (सना खान) राहुल के वकील हैं। भले प्रोफेशनली कोर्ट में आमने-सामने लड़ रहे रणवीर और सिया असल में रिलेशनशिप में रहते हैं और यही कहानी है और आखिर में कबीर (शरमन जोशी) इस केस गुत्थी सुलझा पाते हैं या नहीं, लाइव मर्डर कौन करता है और इसके साथ ही कई और नई नई बातें सामने आते रहती हैं।

डायरेक्शन

फिल्म के डायरेक्टर विशाल पांड्या हैं जो पहले भी इरॉटिक थ्रिलर फिल्में बना चुके हैं। फिल्म को और भी बेहतरीन तकीके से पेश किया जा सकता था। फिल्म में कई चीजों पर काम करने की जरुरत थी जैसे जहां फिल्म में इंटेस मोमेंट्स हैं वहां भी काफी फ्लैट तरीके से फिल्माया गया। फिल्म के डायलोग हैं 'आज इस भटकती खुशबू को ठिकाना दे दो'  और  'मैं अगर बारिश हूं तो तुमपर टूट जाने की इजाजत दे दो' जो आपकी 90 के दशक की फिल्मों की याद दिला देंगे। 

 

 

 

एक्टिंग

फिल्म में एक्टिंग की बात करें तो सना खान एक्सपोज करने के अलावा फिल्म में कहीं भी एक्टिंग नहीं कर पाई हैं। उनकी डायलोग डिलीवरी भी बहुत ही कमजोर है। गुरमीत चौधरी भी फिल्म में अपनी बॉडी दिखाने का एक मौका भी नहीं छोड़े हैं और साथ ही आपको उनकी आवाज भी आपको इरिटेट करेगी। रजनीश दुग्गल भी कुछ खास कमाल नहीं कर पाए हैं। इस डूबती नैया को बचाने की कोशिश शरमन जोशी ने बखूबी की लेकिन अकेले वो क्या कर लेते।

टेक्निकल प्वाइंट

फिल्म की एडिटिंग अच्छी है लेकिन इंटिमेट और बोल्ड सीन फिल्म में हर जगह आपको लगेंगे कि जबरदस्ती डाले गए हैं जो काफी इरिटेट भी करती है। हो सकता है कई जगहों पर आपका सर पकड़ कर बैठ जाएं।

म्यूजिक

फिल्म मे कुछ पुराने गाने डाले गए हैं पल पल दिल के पास, तुझे दिल में बसा लुंगा,  माही वे है लेकिन फिल्म में म्यूजिक के मामले में भी कुछ भी नया नहीं है। 

फिल्म हिट या फ्लॉप

फिल्म का सस्पेंस अच्छा है लेकिन फिल्म में कुछ भी खास नहीं है। ना एक्टिंग शरमन जोशी को छोड़कर किसी की अच्छी है और ना तो फिल्म के डायलोग अच्छे है। मिला जुलाकर सस्पेंस और थ्रिलर के लिए एक बार आप फिल्म देख सकते हैं।

English summary
Wajah tum ho film review,Wajah tum ho film samiksha,Wajah tum ho movie review,Wajah tum ho story, Wajah tum ho rating,Wajah tum ho hindi movie,
Please Wait while comments are loading...

Bollywood Photos

Go to : More Photos