»   » REVIEW: कहानियों में उलझाएगी रणबीर- दीपिका की 'तमाशा'

REVIEW: कहानियों में उलझाएगी रणबीर- दीपिका की 'तमाशा'

Posted by:
Subscribe to Filmibeat Hindi

[समीक्षा] क्या आपका बचपन भी कहानियों के बीच बीता है? यदि हां, तो शायद 'तमाशा' एक ऐसी फिल्म है, जो आपको कभी नहीं छोड़नी चाहिए। इम्तियाज अली की फिल्म 'तमाशा' आज देश भर के सिनेमाघरों में रिलीज हो गई है। रणबीर कपूर और दीपिका पादुकोण की इस फिल्म का दर्शकों को बेसब्री से इंतजार था।


फिल्म की कहानी है कहानियों की.. वेद (रणबीर कपूर) और तारा (रणबीर कपूर) की। अपनी हर फिल्म की तरह इम्तियाज अली ने यहां भी इमोशंस के साथ बहुत खेला है। एक लव स्टोरी जिसे वेद बाकी कहानियों की तरह नहीं, कुछ अलग अंजाम देना चाहता था। लेकिन क्या जैसा वह चाहता था, वैसा हो पाया.. यह देखने के लिए तो आपको सिनेमाघर तक जाना पड़ेगा।

'तमाशा' एक ऐसी फिल्म है, जो एक खास दर्शक वर्ग को ही पसंद आएगी। फिल्म की कहानी काफी घुमावदार है और फिल्म कहीं कहीं पर आपको काफी इमोशनल भी कर जाएगी। हम यह कह सकते हैं कि आजकल के ज्यादातर युवा इस कहानी से खुद को कनेक्ट कर पाएंगे। यहां जानते हैं कि क्या तमाशा दर्शकों की उम्मीदों पर खरी उतरती है या नही!


Rating:
3.0/5

यहां जानें फिल्म का पूरा रिव्यू-


कहानी

कहानी

फिल्म की कहानी है वेद की.. वेद साहनी.. जिसे बचपन से ही कहानियों का शौक होता है। जिंदगी में उसका कोई सबसे बड़ा दुश्मन है, तो वह है Maths.. परिवार चाहता है कि वह इंजीनियरिंग करे.. और वह यह सब करता है। खुद को कहीं खोकर.. दुनिया की रेस में दौड़ता रहता है। लेकिन इस बीच कुछ ऐसा होता है, जहां से उसकी जिंदगी बदलने लगती है।


डॉन- मोना डार्लिंग

डॉन- मोना डार्लिंग

वेद दुनिया से भागकर कुछ समय के लिए कोर्सिका जाता है, जहां उसकी मुलाकात होती है तारा (दीपिका) से। दोनों डिसाइड करते हैं कि वे अपने बारे में जो भी बताएंगे झूठ बताएंगे। यहां तक की नाम भी.. वेद बन जाता 'डॉन' और तारा 'मोना डार्लिंग'.. दोनों कोर्सिका में काफी समय साथ गुजारते हैं। कुछ ही दिनों में दोनों को प्यार भी हो जाता है। लेकिन कहानी इतनी सिंपल नहीं है बॉस..


कहानी में ट्विस्ट

कहानी में ट्विस्ट

कहानी में ट्विस्ट तब आता है जब वेद और तारा की मुलाकात दिल्ली में होती है। जहां तारा को पता चलता है कि वेद वह है ही नहीं, जिससे उसने प्यार किया था। यहां कोई दुनियादारी के बीच चक्की में पिसता वेद साहनी था। न कि ''डॉन''.. इसके बाद कहानी में जो भी होता है, वह आप सिनेमाघर में जाकर देंखे, तभी मजा आएगा।


निर्देशन

निर्देशन

इम्तियाज अली ने एक बार फिर बता दिया है कि बॉलीवुड को उनके जैसे निर्देशकों की कितनी जरूरत है। फिल्म का निर्देशन शानदार है। कहानी में फ्लैशबैक और आज की स्थिति कई बार दिखाई गई है। लेकिन यदि आप इम्तियाज अली के फिल्मों की समझ रखते हैं तो आपको यह काफी प्रभावित करेगी।


एक्टिंग

एक्टिंग

Ranbir Kapoor is BACK.. जी हां, यह फिल्म रणबीर कपूर की ही है। कोई शक नहीं कि दीपिका अपने रोल में बेहतरीन है। लेकिन भावनाओं की जो कहानी रणबीर के लिए लिखी है, वह काबिलेतारीफ है। एक्टिंग की बात कर रहे हैं तो पीयूष मिश्रा का नाम जरूर लेना चाहेंगे। कहानीकार हो तो कोई ऐसा..


म्यूजिक

म्यूजिक

फिल्म का संगीत ए आर रहमान ने दिया है। लिहाजा कोई शक नहीं किया जा सकता कि फिल्म के गाने कुछ दिनों के लिए तो आपको पीछा नहीं छोड़ेंगे। खासकर सुखविंदर की आवाज में 'चली कहानी..' सुनना काफी अच्छा रहा।


क्यों देखें तमाशा-

क्यों देखें तमाशा-

अच्छा निर्देशन, रणबीद- दीपिका की कैमिस्ट्री, फ्रेश लुक, सिनेमेटोग्राफी, म्यूजिक.. ये सब है इम्तियाज अली की इस फिल्म में।


क्यों न देखें-

क्यों न देखें-

'तमाशा' एक खास दर्शक वर्ग को ही पसंद आएगी। कई बॉलीवुड प्रेमी इस फिल्म से बुरी तरह बोर होने वाले हैं। यदि आप इम्तियाज अली की फिल्मों के दिवाने हैं, जो इस फिल्म को कतई न छोड़ें।


English summary
Tamasha starring Ranbir Kapoor and Deepika Padukone has released worldwide. Read the full review here.
Please Wait while comments are loading...

Bollywood Photos

Go to : More Photos