»   » Review-अमिताभ बच्चन की सरकार 3.. दमदार स्टार्स..लेकिन वो बात नहीं

Review-अमिताभ बच्चन की सरकार 3.. दमदार स्टार्स..लेकिन वो बात नहीं

Written by:
Subscribe to Filmibeat Hindi
Rating:
2.0/5

फिल्म - सरकार 3
स्टारकास्ट - अमिताभ बच्चन, मनोज बाजपेई, अमित साध, यामी गौतम, जैकी श्रॉफ,रोनित रॉय
डायरेक्टर - राम गोपाल वर्मा
प्रोड्यूसर - राहुल मित्र, आनंद पंडित, गोपाल शिवराम दाल्वी, कृष्णन चौधरी, वियोन
लेखक - पी जया कुमार, राम कुमार सिंह
शानदार पॉइंट अमिताभ बच्चन और मनोज बाजपेई जो फिल्म में थोड़ी बहुत जान डालने की कोशिश करते हैं
निगेटिव पॉइंट - कहानी ठीक से ना लिख पाना और बैकग्राउंड स्कोर

प्लॉट

प्लॉट

फिल्म की शुरूआत सुभाष नागरे (अमिताभ बच्चन) से होती है जो रैलो संबोधित कर रहे होते हैं।वो अभी तक उम्मीद के अनुरूप दमदार हैं और रैले में कहते हैं "असली ताकत डर में नहीं बल्कि इज्जतपाने में है।" सफेद दाढ़ी में सरकार काला कपड़ा, गले में रुद्राक्ष और सर पर लंबा लाल तिलक लगाए अभी भी चाय वैसे ही पीते हैं और रूक रूक कर बात करते हैं। पहले की तरह लोग उनसे डरते भी हैं और उनकी इज्जत भी करते हैं।

अपने दो बेटों विष्णु और शंकर की मौत के बाद सुभाष नागरे थोड़े तनाव मुक्त रहने लगे हैं। उनकी परिवार जिसमें उनकी पत्नी पुष्पा और दो करीबी सलाहकार गोकुल (रोनित रॉय) और रमन (पराग त्यागी)
लेकिन अब उनके दुश्मनों की संख्या पहले से बढ़ गई है। कदम कदम पर गिरगिट की तरह रंग बदलने वाले लोग पावर के कुछ भी करने के लिए तैयार रहते हैं। ये सभी दुबई बेस्ड बिजनसमैन सर (जैकी
श्रॉफ) के अंदर काम करते हैं।

प्लॉट

प्लॉट

सरकार को इस बार अपने गुस्सैल पोते चीकू उर्फ शिवाजी नागरे (अमित साध) से घिरा हुआ दिखाया गया है। स्थिति को और भी ज्यादा कठिन बनाने के लिए दिखाया गया है कि शिवाजी अनु (यामीगौतम) से प्यार करता है लेकिन उसके दिमाग में सिर्फ बदले की भावना है। कई षडयंत्रो और खून खराबे के बाद क्या सरकार फिर से हाथ में बंदूक थामेंगे?

डायरेक्शन

डायरेक्शन

कई फ्लॉप फिल्मों के बाद सरकार 3 राम गोपाल वर्मा के लिए वापसी का एक बेहतरीन मौका साबित हो सकती थी लेकिन उनकी इस फिल्म में कुछ ऐसी दमदार बात नहीं है कि आपका अंटेंशन बनाए रखे। सरकार 3 खून खराबे और रंजिश की कहानी है जिसमें एक खास मकसद को अच्छे से नहीं दिखाया गया है। फिल्म के ट्विस्ट में भी आपको मजा नहीं आएगा और फिल्म के कास्ट के लिए बुरा भी लगेगा जो खुद में गुम दिखाई देते हैं बिल्कुल हमारी तरह।

परफॉर्मेंस

परफॉर्मेंस

अमिताभ बच्चन की शानदार एक्टिंग और करिश्मा सिर्फ इसे बचाने के लिए काफी नहीं है। उन्होंने शानदार परफॉर्मेंस दी है और कई सीन में बेहतरीन तरीके से संदेश देने की भी कोशिश की है।

परफॉर्मेंस

परफॉर्मेंस

मनोज बाजपेई भी इंप्रेस करने में सफल हुए हैं लेकिन उनका स्क्रीन टाइम ज्यादा नहीं है। अमित साध एंग्री यंग मैन के किरदार में एक बार फिर खुद को साबित किया है और दिखा दिया कि वो वाकई लंबे रेस के घोड़े हैं।

परफॉर्मेंस

परफॉर्मेंस

रोनित रॉय का अमिताभ बच्चन के साथ आमना सामना भी बहुत ही दिलचस्प है। और हां साथ में जैकी श्रॉफ का नेमिसिस किरदार भी आपको डराने की जगह हंसाएगा। उनके अजीबोगरीब डायलोग आपको सीधे कोमा में ले जाएंगे।

यामी गौतम का ग्रे शेड किरदार भी अच्छा है और उनके खाते में करने के लिए बहुत कुछ था। सुप्रिया पाठक जो फिल्म में मराठी ज्यादा बोलते नजर आई हैं अच्छी लगी हैं।

तकनीकी पक्ष

तकनीकी पक्ष

राम गोपाल वर्मा और उनके चिर परिचित टाइट क्लोजअप शॉट्स इस फिल्म में भी हैं। सरकार 3 में हर सीन में कैमरे के कई एंगल हैं जिससे सीन नकली लगने लगता है।


गोविंदा गोविंदा गाने के अलावा सारे बैकग्राउंड स्कोर बहुत बुरे हैं और आपको दवा की जरूरत भी पर सकती है।डायलोग में पंच की कमी है। स्क्रीनप्ले में भी इंप्रेस करने के लिए कुछ खास नहीं बच जाता है।

म्यूजिक

म्यूजिक

सरकार में गणपति आरती के अलावा म्यूजिक में कोई स्कोप नहीं है और गणेश आरती भी अमिताभबच्चन के आवाज में है और ये काफी बेहतरीन है।

 Verdict

Verdict

सिंपल तरीके से बोलें राम गोपाल वर्मा का ट्विटर पेज इस 132 मिनट की फिल्म से ज्यादा इंटरटेनिंग है। अब समय आ गया है कि राम गोपाल वर्मा अपनी फिल्मों में कुछ नयापन लाएं और हमें आज भी उनकी सत्या और कंपनी जैसी फिल्में याद है।

English summary
Sarkar 3 movie review story plot and rating, know how the movie is.
Please Wait while comments are loading...

Bollywood Photos

Go to : More Photos