»   » #FilmReview: इरादा, एक शानदार कहानी...जो परदे पर खो गई!

#FilmReview: इरादा, एक शानदार कहानी...जो परदे पर खो गई!

नसीरूद्दीन शाह और अरशद वारसी एक बार फिर परदे पर एक साथ वापस आए हैं। इरादा नाम की फिल्म के साथ। पढ़िए फिल्म की पूरी समीक्षा और जानिए फिल्म की रेटिंग।

Written by:
Subscribe to Filmibeat Hindi

Rating:
2.5/5

फिल्म - इरादा
स्टारकास्ट - नसीरूद्दीन शाह, अरशद वारसी, दिव्या दत्ता, सागरिका घटके, शरद केलकर
प्रोड्यूसर - फालगुनी पटेल, प्रिंस सोनी
लेखक - अपर्णा सिंह, अनुष्का राजन
शानदार बात - कॉन्सेप्ट
निगेटिव पॉइंट - लचर लेखन, डायरेक्शन
कब लें ब्रेक - इंटरवल में
बेस्ट मूमेंट - कोई नहीं!

प्लॉट

परबजीत वालिया (नसीरूद्दीन शाह) एक सैनिक था और अब लेखक है और उसकी दुनिया थम जाती है जब उसकी बेटी को कैंसर होता है। हालांकि उसकी मौत पर रोने की बजाय वो उसके कारण ढूंढने की कोशिश करता है। जो उसे चीफ मिनिस्टर (दिव्या दत्ता) और एक बिज़नेसमैन (शरद केलकर) की करप्ट हरकतों और कुछ राज़ के करीब लेकर जाता है।

 

 

 

एक सामाजिक मिशन

एंट्री होती है NIA ऑफिसर अर्जुन मिश्रा (अरशद वारसी) की जिसे सीएम वालिया की ज़िम्मेदारी देती है। वहीं फिल्म में एक ज्रर्नलिस्ट है सागरिका घटके के तौर पर जो अपने बॉयफ्रेंड की मौत का बदला लेना चाहती है। ये तीनों किरदार मिलकर समाज को करप्शन और कुछ बुरी बीमारियों से बचाने की कोशिश करते हैं।

निर्देशन

फिल्म अपर्णा शर्मा का डेब्यू है और उनकी कोशिश के लिए उन्हें पूरे नंबर पमिलने चाहिए। एक ऐसा विषय चुनने के लिए जो आजकल प्रचनल में है। साइंस से जुड़ी चीज़ें बॉलीवुड का हिस्सा नहीं होती हैं पर इस फिल्म में हैं। लेकिन फिल्म आधी ही परोस दी गई है या फिर एक अच्छे आईडिया को ठीक से नहीं उतारा गया है।

अभिनय

इश्किया की जो़डी अरशद वारसी और नसीरूद्दीन शाह इस फिल्म को खींचते हैं जबकि प्लॉट बिना किसी सस्पेंस के यहां वहां भटकता रहता है। नसीरूद्दीन शाह को आग जलनी चाहिए, दुष्यंत कुमार की कविता बोलते सुनना काफी अच्छा लगेगा। सागरिका घटगे पूरी फिल्म में केवल रोती दिखी हैं। दिव्या दत्ता ने हमेशा की तरह इंप्रेस किया है। जबकि शरद केलकर बेहतरीन विलेन बनकर उभरे हैं।

तकनीकी पक्ष

फिल्म का लेखन और डायरेक्शन दोनों ही ढीला है। एक कॉन्सेप्ट था जो शानदार था लेकिन उसे पेपर पर लिखते लिखते फिल्म फेल हो चुकी थी। और परदे पर आते आते तो खो ही गई। फिल्म में ना सस्पेंस है और ना ही आपको बांधे रखने का कोई एलिमेंट।

म्यूज़िक

फिल्म के म्यूज़िक में याद रखने लायक जैसा कुछ भी नहीं है।

रेटिंग

फिल्म केवल सतह पर रह जाती है और अंदर गहराईयों में जाने की कोशिश ही नहीं करती। हमारी तरफ से 2 स्टार।

English summary
Irada movie review is here. Directed by Aparnaa Singh, featuring Naseeruddin Shah and Arshad Warsi.
Please Wait while comments are loading...

Bollywood Photos

Go to : More Photos