»   » Celeb Review: इतनी तारीफ कि अब फिल्म देखे बिना नहीं रह पाएंगे

Celeb Review: इतनी तारीफ कि अब फिल्म देखे बिना नहीं रह पाएंगे

सााउथ के सितारे द ग़ाज़ी अटैक से बहुत ही खुश हैं और उन्होंने फिल्म की इतनी तारीफ कर दी है कि आप फिल्म देखे बिना रह ही नहीं पाएंगे।

Written by:
Subscribe to Filmibeat Hindi

17 फरवरी को एक मल्टीस्टारर फिल्म रिलीज़ होने वाली है - द ग़ाज़ी अटैक। फिल्म भारत - पाकिस्तान के पहले अंडरवाटर युद्ध पर बनी है। और इंडियन नेवी की काबिलियत को पूरे शानदार ढंग से दर्शाती है।

फिल्म के मुख्य स्टार हैं - राणा दग्गुबाती, केके मेनन, ओम पुरी, नवाज़ शेख, अतुल कुलकर्णी और तापसी पन्नू। ये मुख्यमरूप से तेलुगू फिल्म है जिसे हिंदी में धर्मा प्रोडक्शन्स प्रोड्यूस कर रहा है। करण जौहर फिल्म की रिलीज़ के लिए काफी एक्साइटे़ड हैं।

the-ghazi-attack-film-review-south-celebs-will-intrigue-you-more
 

अब साउथ के कुछ सितारों ने फिल्म देख ली है और इसकी इतनी तारीफें की है कि आप ये फिल्म देखे बिना रह नहीं पाएंगे। वैसे भी फिल्म का विषय इतना दिलचस्प है कि हर किसी को ये फिल्म देखनी ज़रूर चाहिए।

जानिए फिल्म के बारे में कुछ बेहद दिलचस्प बातें। वो बातें जो पाकिस्तान आपको कभी नहीं बताएगा -
 

भारत - पाकिस्तान का पहला समुद्री युद्ध

भारत-पाकिस्तान के बीच युद्ध चल रहा था। मसला पूर्वी पाकिस्तान (अब बांगलादेश) का था। इस युद्ध की कई दास्तानें अभी तक छुपी हुई हैं। यह फिल्म उन कई दास्तानों से पर्दा उठा सकती है।

आईएऩएस विक्रांत

भारत का एयरप्लेन कैरियर आईएऩएस विक्रांत बंगाल की खाड़ी के पास तैनात था। जब तक यह है तब तक पाकिस्तान की सेना पूर्वी पाकिस्तान पर हमला नहीं कर सकती। जाहिर सी बात है कि पाकिस्तान के लिए इसको हटाकर ही आगे बढ़ना होगा।

पाकिस्तान - अमरीका संबंध

एक और सबमरीन था - पीएनएस गाजी। पाकिस्तान ने अमेरिका से खरीदा था। दूसरे विश्वयुद्ध के दौरान इसे तैयार किया गया था। इसके बलबूते पर वो आईएनएस विक्रांत को टक्कर दे सकता था।

पाकिस्तान का अटैक

भारतीय जल सेना को यह पता चल चुका था कि पीएनएस गाजी से पाकिस्तान उन पर अटैक करने वाला है। अब इससे बचाव को लेकर प्लान बनने शुरू हो चुके थे।

भारत का प्लान

इसी बीच वाइस एडमिरल, एन कृष्णन अपने प्लान के साथ सामने आए। उन्होंने एक रेडियो मैसेज छोड़ा। जिससे ये लगा कि आईएनएस विक्रांत विशाखापट्टनम के पास विजाग तट पर है। जबकि विक्रांत को एक सीक्रेट लोकेशन पर भेज दिया गया था।

 

 

ग़ाज़ी पर अटैक

एक डीकमीशन्ड आईएनएस राजपूत को विक्रांत बना दिया। विक्रांत के सिग्नल उससे भेजे जाने लगे। पीएनएस गाजी इंतजार में था। राजपूत के सारे सिंगल उस तक पहुंच रहे थे। यह एक जाल था। 4 दिसंबर आधी रात को आईएनएस राजपूत के कैप्टन ने इंद्र सिंह ने गाजी पर अटैक करना का ऑर्डर दिया। एक मिनट के बीचों-बीच तेज धमाका हुआ।

सारा क्रू डूब गया

राजपूत को इस धमाके ने हिला कर रख दिया। सुबह तक समंदर का पानी काला हो चुका था। गाजी के पास काफी असलाह था, डायनामाइट्स थे। इस धमाके से निकली आग में वो भी झुलस गया। वो दो भागों में बिखर गया। सारा क्रू डूब गया।

 

 

पाकिस्तान का नकारना

ये बात भारत की है। पाकिस्तान इसे नकारता है। उसका कहना है कि समंदर में ब्लैकआउट होने की वजह से गाजी डूब गया था।

दास्तान के कुछ और हिस्से

इस फिल्म के हिस्से किताब से लिए गए हैं। किताब का नाम ‘ब्लू फिश' है। किताब संकल्प रेड्डी ने लिखी है। इसका निर्देशन भी उन्होंने ही किया है। अब उम्मीद इस फिल्म से है कि वो इस दास्तान के कुछ और हिस्से हमारे सामने रखे।

पनडुब्बी एस-21 के कार्यकारी

भारतीय पनडुब्बी एस-21 के कार्यकारी नौसेना अधिकारी और उसकी टीम के बारे में जो 18 दिनों तक पानी के नीचे रहते हैं। फिल्म उन रहस्यमयी परिस्थितियों की पड़ताल करती है जिनकी वजह से पीएनएस गाजी 1971 में विशाखापत्तनम के तट पर डूब गया था।

English summary
The Ghazi attack film review by South celebs will intrigue you more.
Please Wait while comments are loading...

Bollywood Photos

Go to : More Photos