»   » "मुझे रोल ही नहीं मिल रहे थे...मैंने सोचा जो मिल रहा है कर लो!"

"मुझे रोल ही नहीं मिल रहे थे...मैंने सोचा जो मिल रहा है कर लो!"

शाहरूख खान ने हाल ही में अपने स्ट्रगल के बारे में बात करते हुए बताया कि किस तरह उन्हें कोई भी रोल करना पड़ता था क्योंकि कोई और उसे नहीं कर रहा होता था।

Written by:
Subscribe to Filmibeat Hindi

शाहरूख खान ने हाल ही में अपने उन दिनों की बात की जब वो फिल्म इंडस्ट्री में नए नए आए थे। उन्होंने बताया कि उनसे लोग कैसी बातें करते थे और उन्हें लगता था कि वो पता नहीं कब एक्टर बन पाएंगे। उनसे एक डायरेक्टर ने यहां तक कहा था कि वो इतने बदसूरत दिखते हैं कि किसी चीज़ के भी बदले इस्तेमाल में आ जाएंगे।

वहीं शाहरूख ने अपने निगेटिव किरदारों के बारे में बात करते हुए बताया कि वो निगेटिव रोल कोई हीरो करना नहीं चाहता था और सब मुझे बदसूरत कहते थे। मुझे लगा कि जो भी काम मिल रहा है कर लो। हीरो नहीं बन पा रहा हूं तो विलेन ही बन जाऊं।

shahrukh-khan-opens-up-on-his-work-struggle

गौरतलब है कि हाल ही में ऋषि कपूर ने अपनी किताब में लिखा कि शाहरूख को डर के लिए उन्हें धन्यवाद करना चाहिए। इस किताब में ऋषि कपूर ने और भी खुलासे किए जो आप यहां पढ़िए। रही बात शाहरूख की तो उनका कहना है कि उनका पूरा करियर ही ऐसे रोल में निकला है।

शाहरूख बताते हैं कि रईस में नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी उनका पीछा करते रहेंगे, उन्हें जेल में डालने के लिए। वैसे सच कहा जाए तो शाहरूख ने ऐसा कई फिल्मों में किया है - फैन, डर, अंजाम, बाज़ीगर।
[#AlsoRead: "मैं जानता हूं अब मैं बॉलीवुड KING नहीं हूं" - शाहरूख ] 

लेकिन एक मिनट अब हम कहें कि शाहरूख ने ऐसा हर फिल्म में किया है तो? असल ज़िंदगी शाहरूख जैली हरकतें कोई करे तो सीधा जेल में होगा -
 

फैन

शाहरूख खान फैन में जिस तरह के फैन बने थे उसे जेल में ही होना चाहिए था। जिस तरह की हरकतें उन्होंने फैन में की, असल ज़िंदगी में ऐसे लोगों पर पुलिस कितने डंडे बरसाती ये आप भी जानते हैं और हम भी!

अन्जान लड़की का पीछा

दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे में शाहरूख खान एक अन्जान लड़की का पीछा करते हैं। विदेश से मन नहीं भरता तो उसका पीछा करते करते भारत आ पहुंचते हैं।

विधवा लड़की का पीछा

कोई ना कोई चाहिए प्यार करने वाला....दीवाना का ये गाना गाते गाते शाहरूख इतने सीरियस हो जाते हैं कि एक विधवा लड़की का पीछा करने लगते हैं। उफ्फ

आतंकवादी का पीछा

दिल से में तो शाहरूख हद ही कर देते हैं। एक आतंकवादी का पीछा करते हैं और आखिर में किसी का बिना सोचे समझे पीछा करने की कीमत अदा करते हैं - मर कर!

दोस्त का पीछा

कभी हां कभी ना में शाहरूख अपने ही बेस्ट फ्रेंड की गर्लफ्रेंड का पीछा करते हैं, झूठ बोलते हैं और क्या क्या नहीं करते, केवल सच्चे प्यार के नाम पर!

पड़ोसी का पीछा

पड़ोसी का पीछा, उसकी बेस्ट फ्रेंड का पीछा, उसके बिज़नेस में तांक झांक और फिर एक और बेस्ट फ्रेंड का पीछा। इस फिल्म में तो शाहरूख ने पीछा करने की सारी हदें ही पार कर दीं!

दूसरे की पत्नी का पीछा

कभी अलविदा ना कहना में शाहरूख एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर में होते हैं और दूसरे की पत्नी का पीछा करते हैं! WOW!

प्रिंसिपल की बेटी का पीछा

कुछ कुछ होता है के पहले पार्ट में शाहरूख प्रिंसिपल की बेटी का पीछा करते हैं लेकिन इससे भी मन नहीं भरता तो दूसरे हाफ में अपनी ही बेस्ट फ्रेंड का पीछा करते हैं, उसकी शादी वाले दिन तक!

भूत बनकर पीछा

पहेली में भी शाहरूख ने सारी हदें पार कर दीं। एक भूत बनकर किसी की नई नवेली दुल्हन का पीछा करते हैं! YIKESSSS! Cool

अपनी ही बीवी का पीछा

हद तो इसे कहते हैं साहब....रब ने बना दी जोड़ी में तो शाहरूख अपनी ही बीवी का पीछा करते हैं। क्यों अब कहिए शाहरूख जैसा बॉयफ्रेंड चाहिए!

English summary
Shahrukh Khan opens up on his work struggle and the film choices he took.
Please Wait while comments are loading...

Bollywood Photos

Go to : More Photos