»   » नाजायज़ #Demand: शाहिद कपूर की उड़ता पंजाब में 40 कट या फिल्म BAN!

नाजायज़ #Demand: शाहिद कपूर की उड़ता पंजाब में 40 कट या फिल्म BAN!

Written by:
Subscribe to Filmibeat Hindi

शाहिद कपूर, करीना कपूर, आलिया भट्ट और दिलजीत दोसान्ज्ह स्टारर उड़ता पंजाब मुसीबत में फंस चुकी है। दरअसल, सेंसर बोर्ड ने फिल्म के कंटेंट को सही ना बताते हुए पास करने से मना कर दिया है।

सेंसर बोर्ड की मानें तो फिल्म में काफी गालियां और कुछ जगह ड्रग्स का खुला इस्तेमाल भी है। ऐसे में वो फिल्म पास नहीं कर सकते। इसकी एवज में सेंसर बोर्ड ने एक बेतुकी सी शर्त रख दी है। 
[बजरंगी भाईजान के ये सीन रिलीज़ से पहले हुए कट] 

सेंसर बोर्ड का कहना है कि फिल्म तब तक रिलीज़ नहीं होगी जब तक उनके सुझाव नहीं माने जाते और उनका सुझाव है फिल्म में 40 कट! 

अब ऐसे में फिल्म में क्या बचेगा ये तो आप खुद ही सोचिए। फिल्म के प्रोड्यूसर अनुराग कश्यप फिल्म को रिलीज़ करवाने के लिए एड़ी चोटी का ज़ोर लगा रहे हैं। उड़ता पंजाब को 17 जून को रिलीज़ होना है लेकिन फिलहाल के लिए तो ये बैन हो चुकी है। 
[सेंसर बोर्ड ऐसा होता तो 'SPERM' बोलना भी...गंदी बात!] 

बॉलीवुड के कई दिग्गजों का मानना है कि जब किसी भी फिल्म को चार तरह के सर्टिफिकेट दिए जाते हैं तो उसके बाद कट करने का क्या मतलब है। 

जानिए कुछ बेहतरीन फिल्मों को लेकर सेंसर बोर्ड के कारनामे -
 

उड़ता पंजाब

उड़ता पंजाब ड्रग्स पर बनी एक फिल्म है कि कैसे पंजाब में इस कारोबार ने युवाओं की ज़िंदगी बर्बाद कर दी है। लेकिन सेंसर बोर्ड चाहता है कि फिल्म दिखाई जाए...बिना ड्रग्स के...किसी को कुछ समझ आया?

40 कट

फिल्म में शाहिद कपूर एक ड्रग एडिक्ट रॉकस्टार का किरदार निभा रहे हैं। और ड्रग डोज़ के बाद नशे में उनकी गालियों से लेकर ड्रग्स के कश खींचने तक की मदहोशी...कुछ भी सेंसर बोर्ड को रास नहीं आ रही। और इसीलिए फिल्म में 40 कट मांगे गए हैं।

रमन राघव 2.0

इस फिल्म को लेकर सेंसर बोर्ड ने 6 कट की डिमांड की है। इसमें काफी हिंसा है। जबकि फिल्म में नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी का किरदार ही एक बेरहम हत्यारे का है।

गैंग्स ऑफ वसेपुर

अनुराग कश्यप की गैंग्स ऑफ वसेपुर तो काफी समय तक सेंसर बोर्ड पर अटकी रही। फिल्म की भाषा से लेकर कंटेंट तक सब कुछ बोर्ड को नापसंद था। खासतौर से तेरी कह के लूंगा!

कुछ सच नहीं

वहीं बोर्ड का कहना था कि अनुराग कश्यप फिल्म के शुरू में ही सूचना डालें कि सभी पात्र काल्पनिक हैं। जबकि अनुराग का मानना था कि वो ऐसा क्यों करें जबकि उनकी पूरी टीम ने एक एक कैरेक्टर पर पूरी रिसर्च की है और सब असली है।

ब्लैक फ्राइडे

फिल्म इतनी ज़्यादा साफ और मुंहफट थी कि सबके होश ही उड़ गए। 1993 बंबई बम ब्लास्ट पर बनी इस फिल्म ने सब कुछ खोलकर रख दिया था। आज तक फिल्म बैन है और आधिकारिक रूप से रिलीज़ नहीं हुई हालांकि देखी सबने है।

गुलाल

स्टूडेंट पॉलिटिक्स पर बनी इस फिल्म से भी सेंसर बोर्ड को आपत्ति थी। हालांकि थोड़ी मान मनौव्वल के बाद सब ठीक हो गया था।

पांच

अनुराग कश्यप की इस फिल्म को आज तक रिलीज़ नहीं मिली है। हालांकि ये फिल्म भी देखी काफी लोगों ने है।

अगली

इस फिल्म के लिए भी सेंसर बोर्ड ने आपत्ति जताई थी कि सिगरेट पीने के सी पर चेतावनी लिख कर आए। अनुराग ने साफ कहा कि लोग सिगरेट ना पिएं इसकी ज़िम्मेदारी स्वास्थ्य मंत्रालय की है फिल्म इंडस्ट्री की नहीं।

Please Wait while comments are loading...

Bollywood Photos

Go to : More Photos