»   » "बॉलीवुड का क्या लेना देना...सारा तमाशा तो मेरे घर" - अक्षय कुमार

"बॉलीवुड का क्या लेना देना...सारा तमाशा तो मेरे घर" - अक्षय कुमार

Written by:
Subscribe to Filmibeat Hindi

अक्षय कुमार जब बोलते हैं बिंदास बोलते हैं ये तो सबको पता है और इस बार भी उन्होंने कुछ ऐसा ही किया। हाल ही में हाउसफुल 3 के ट्रेलर लॉन्च पर अक्षय कुमार से ऋतिक और कंगना के बारे में पूछा गया लेकिन अक्षय कहां सीधा जवाब देते। 

एक रिपोर्टर ने उनसे पूछा कि आजकल ऋतिक और कंगना के बीच बॉलीवुड में जो चल रहा है उस पर क्या कहना है। इस पर अक्षय कुमार ने कहा कि ऋतिक कंगना के बॉलीवुड में कहां कुछ चल रहा है, जो कुछ भी चल रहा है, वो तो उनके घर में...मतलब कि उनकी बिल्डिंग में चल रहा है।
[TRICK: अक्षय कुमार - अजय देवगन बनना चाह रहे हैं शाहरूख?]

दरअसल, अक्षय ने ये चुटकी इसलिए ली क्योंकि ऋतिक रोशन और अक्षय कुमार एक ही बिल्डिंग में रहते हैं। लेकिन इसके बाद सीरियस होते हुए अक्षय ने कहा कि आप लोगों को तो काफी मज़ा मिल ही रहा है लेकिन अब ये सब बंद हो जाना चाहिए क्योंकि हर चीज़ की एक लिमिट होती है और कोई भी लड़ाई ज़्यादा नहीं खिंचती तो फिर ये लड़ाई तो काफी ज़्यादा खिंच चुकी है। 

जानिए अक्षय कुमार के बेबाक बयान - 

200 दिन की कैसी फिल्म

हाल ही में अक्षय कुमार ने बिंदास अंदाज़ में कहा कि लोग 200 दिन तक एक ही फिल्म में शूट क्या करते हैं पता नहीं। मेरी फिल्म तो 70 - 80 दिन में बन जाती है।

जिसकी सीट उसका अवार्ड

अक्षय कुमार की बेबी को हर अवार्ड शो में इग्नोर किया गया जिसके बाद वो खुलकर सामने आए और कहा कि आजकल हर अवार्ड शो में जो सामने की सीट पर बैठा होता है, अवार्ड उसी का होता है।

BOOKED हैं त्योहार

ईद से दीवाली सब तो BOOKED रहती है, ऐसे में मैं इंतज़ार करते थोड़ी बैठूंगा कि त्योहार मिले और रिलीज़ करूं। मैं साल में चार फिल्में करता हूं और जब भी वो तैयार होती है, तुरंत रिलीज़ करता हूं।

मेरे कोई 6 पैक नहीं

मुझे एक्सरसाइज़ करते 25 साल हो गए लेकिन आज तक मेरे पास 6 पैक एब्स नहीं हैं। पता नहीं लोगों के पास कैसे हैं, पर कम से कम मेरे पास नहीं है और ना हो सकती है।

झूठ बोलते हैं एक्टर

मैंने 150 से ज़्यादा फिल्में की हैं, पर कभी कोई ऐसा रोल नहीं रहा जो मुझे परेशान कर दे और मैं डिप्रेशन में चला जाऊं। जो एक्टर ऐसा कहते हैं कि मैं उस रोल में जीता था झूठ कहते हैं।

सलमान से टक्कर

मैं किसी को टक्कर नहीं दे सकता। और टक्कर की क्या ज़रूरत है मैं आता हूं, एक साल में 4 फिल्में करता हूं थोड़े पैसे कमाता हूं। बाकी लोग के लिए समय किसके पास है।

B से C ग्रेड तक

मैंने B ग्रेड से लेकर C ग्रेड तक की फिल्में की हैं। क्योंकि उस वक्त मेरे पास कोई ऑप्शन नहीं था। लेकिन मैंने कभी इसकी शर्मिंदगी नहीं उठाई क्योंकि ये भी काम है और उन फिल्मों का अपना दर्शक वर्ग है।

उन एक्टर्स पर SHAME!

जो एक्टर एक फिल्म फ्लॉप होेने के बाद उस डायरेक्टर के साथ काम नहीं करते वो गलत करते हैं। क्योंकि फिल्म कभी केवल डायरेक्टर की वजह से फ्लॉप नहीं होती, उसमें एक्टर का भी पूरा योगदान होता है।

जितनी उम्र उतना दिखाउंगा!

मैं 40 साल से ऊपर हूं, हर ऐसे इंसान की सफेद दाढ़ी, सफेद बाल होंगे ही।इसमें छिपाऊं क्या। जितनी उम्र है, उतनी तो रहेगी ही ना। छिपा कर क्या कर लूंगा।

Please Wait while comments are loading...