»   » 1000 करोड़ का बजट...ब्लॉकबस्टर फिल्म और सबसे बड़ा सुपरस्टार IN

1000 करोड़ का बजट...ब्लॉकबस्टर फिल्म और सबसे बड़ा सुपरस्टार IN

Written By:
Subscribe to Filmibeat Hindi

जब से बाहुबली की चर्चा खत्म हुई है, तब से दो फिल्मों की चर्चा ज़ोरों पर है। एक तो 1000 करोड़ की महाभारत और दूसरी 500 करोड़ की रामायण। रामायण तो पूरा बॉलीवुड प्रोजेक्ट है जबकि महाभारत में बॉलीवुड और साउथ के सितारे होंगे।

माना जा रहा था कि इस 1000 करोड़ की महाभारत का प्लान एसएस राजामौली ने बनाया है और इसे डायरेक्ट कोई और करेगा। फिल्म को प्रोड्यूस करेंगे दुबई के बिज़नेसमैन बीआऱ शेट्टी। 

1000-crore-mahabharata-gets-go-ahead-from-pm-narendra-modi

लेकिन ये 1000 करोड़ का प्रोजेक्ट शुरू हुआ ही था कि इसका विरोध होने लगा। फिल्म के हीरो थे मलयालम सुपरस्टर मोहनलाल जो महाभारत में भीम की भूमिका में थे और फिल्म भीम के एंगल से बनाई जा रही है। इस बारे में एक किताब है रंदमूज़म और फिल्म उसी पर बन रही थी।

लेकिन फिल्म का केरल में काफी विरोध किया गया। ये भी माना गया कि फिल्म को राजनीतिक और धार्मिक रंग में लपेटा जाएगा। लेकिन अब फिल्म को मिल गया है सबसे बड़े सुपरस्टार का साथ।
[1000 करोड़ की महाभारत में बाहुबली प्रभास - ऋतिक IN, सलमान - आमिर OUT!]

यानि कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। दरअसल, महाभारत की एक टीम, नरेंद्र मोदी से मिलने वाली है और ये प्रोजेक्ट भी डिसकस करने वाली है। वहीं माना जा रहा है कि नरेंद्र मोदी को इस फिल्म का आईडिया काफी पसंद आया है और उन्होेंने इसे हरी झंडी दे दी है।
[500 करोड़ की रामायण के लिए बॉलीवुड तैयार...सलमान - ऋतिक DONE!]

अब देखना है कि महाभारत को किस किस रंग में लपेटा जाता है। जैसे बाहुबली का धर्म भी तय किया गया था!

बाहुबली का धर्म

बाहुबली का धर्म

बाहुबली का एक पोस्टर वायरल हुआ और उस वक्त किसी को नहीं समझ आ रहा था कि ये क्यों हो रहा है। धीरे धीरे बाहुबली को हिंदू फिल्म घोषित कर दिया गया है। पहले फिल्म को लेकर केवल तेलुगू सिनेमा और बॉलीवुड में जंग छिड़ी थी लेकिन इसके बाद ये जंग बड़ी हुई और हिंदू - मुस्लिम धर्म की लड़ाई बन गई।

हिंदू सभ्यता का प्रतीक बाहुबली

हिंदू सभ्यता का प्रतीक बाहुबली

एसएस राजामौली भगवान पर विश्वास नहीं करते और नास्तिक हैं लेकिन उनकी फिल्म अब हिंदू धर्म और सभ्यता का प्रतीक बन गई। वहीं दूसरी तरफ, अब लोगों ने जमकर शाहरूख - सलमान - आमिर का मज़ाक उड़ाना शुरू कर दिया। इन हिंदू संस्कृति के रक्षकोंं ने सीधा सीधा पीके पर निशाना साधते हुए कहा कि बिना हिदू धर्म का मज़ाक उड़ाए बिना भी फिल्में बन सकती। ये बाहुबली से सीखना चाहिए।

 मुस्लिमों को नहीं पसंद आ रही बाहुबली

मुस्लिमों को नहीं पसंद आ रही बाहुबली

एक ट्विटर यूज़र की मानें तो बाहुबली जैसी फिल्म किसी को अगर पसंद नहीं आती है तो वो मुसलमान है। क्योंकि ये फिल्म अच्छी तरह से और भव्य तरह से हिंदू धर्म का प्रचार करती है।

लिपस्टिक अंडर माय बुरखा

लिपस्टिक अंडर माय बुरखा

वहीं ट्विटर पर लोगों का ये भी कहना था कि जिन लोगों को बाहुबली पसंद नहीं आई, उनके पास, लिपस्टिक अंडर माय बुरखा जैसी फिल्मों के बारे में अच्छी खासी बातें होंगी कहने के लिए।

अमर चित्र कथाओं से प्रेरित

अमर चित्र कथाओं से प्रेरित

सोचने वाले ये सोच कर हैरान हैं कि कैसे और कितनी आसानी से फिल्म को धर्म से जोड़ दिया गया है जबकि फिल्म आसानी से केवल अमर चित्र कथाओं पर बनी हुई एक काल्पनिक कहानी है।

हिंदुओं की फिल्म बन गई है बाहुबली

हिंदुओं की फिल्म बन गई है बाहुबली

अब बाहुबली हिंदू धर्म रक्षकों की फिल्म बन चुकी है। और कोई भी अगर फिल्म के बारे में कुछ भी गलत कह रहा है या लिख रहा है, वो ज़बर्दस्ती की धर्म राजनीति का शिकार हो रहा है। उसे हिंदू सभ्यता का खूनी माना जा रहा है और धर्म का दुश्मन।

महिलाओं का असली चरित्र

महिलाओं का असली चरित्र

माहिष्मती की दोनों औरतें - शिवागामी और देवसेना को हिंदू औरतों का उत्तम प्रतीक माना जा रहा है। हिंदू औरतों को कैसे रहना चाहिए ये इन ट्विटर यूज़र के हिसाब से बाहुबली सिखा रही है।

 हिंदू चीजो़ं का इस्तेमाल

हिंदू चीजो़ं का इस्तेमाल

फिल्म में शिवा का शिवलिंग कहीं और स्थापित करना और फिर उसका जलाभिषेक करना। माहिष्मती में हाथी के भगवान की पूजा होना और देवसेना के राज्य में कृष्ण की पूजा होना, ये सब अब फिल्म के धार्मिक पक्ष बन चुके हैं जो इसे हिंदुओं की फिल्म घोषित कर रहे हैं।

हिंदुओं के दौर की कहानी है

हिंदुओं के दौर की कहानी है

लेखक आनंद नीलकंठन की मानें तो फिल्म जिस समय में बनाई गई है उस समय हिंदु धर्म को वापस स्थापित किया जा रहा है और इसलिए ये चीज़ें फिल्म से जुड़ती चली गई हैं!

महाभारत का मिश्रण

महाभारत का मिश्रण

एक फिल्मकार की मानें तो गौर से देखने पर बाहुबली काफी हद तक महाभारत जैसी लगेगी जहां प्रभास का कैरेक्टर किसी एक पांडव का मान लीजिए। ऐसे में किसी को भी हैरान नहीं होना चाहिए कि क्यों फिल्म को हिंदू फिल्म कहा जा रहा है।

 बीजेपी और हिंदुओं की फिल्म है बाहुबली

बीजेपी और हिंदुओं की फिल्म है बाहुबली

कुछ लोगों की मानें तो बाहुबली भाजपा और हिंदुओं की फिल्म है। वरना एक अधूरी फिल्म को नेशनल अवार्ड क्यों दिया गया था। गौरतलब है कि बाहुबली 1 के लिए एसएस राजामौली को नेशनल अवार्ड दिया गया था।

English summary
1000 crore Mahabharata gets a go ahead from PM Narendra Modi.
Please Wait while comments are loading...