होम » मूविस » अलोन » आलोचनात्मक समीक्षा

अलोन

पाठकों द्वारा समीक्षा

रिलीज़ डेट

16 Jan 2015
आलोचनात्मक समीक्षा पाठकों द्वारा समीक्षा

Hindi.filmibeat.com

बिपाशा बासु को हॉरर क्वीन यूं हीं तो नहीं कहा जाता, आखिर राज़, आत्मा जैसी बेहतरीन हॉरर फिल्में करने के बाद आज भी बिपाशा को इस तरह की फिल्मों के लिए निर्देशकों की पहली पसंद माना जाता है। इसके पीछे वजह ये है कि भले ही हॉरर फिल्में सिर्फ डराने के लिए बनती हों लेकिन बिपाशा ने आज तक खुद को किसी इमेज में नहीं बांधा है। वो दर्शकों को सिर्फ अपने किरदारों वे रोंगटे खड़े कर देने वाले अभिनय से सिर्फ डराती नहीं हैं बल्कि उन्हें अपने किरदारों, अलौकिक शक्तियों के मौजूद होने का एहसास भी करा देती हैं।

Buy Movie Tickets
स्पॉटलाइट में फिल्में