»   » Interview स्टार्स की फिल्मों में हिरोइनें आज भी रिप्लेसेबल हैं- 'प्रियंका चोपड़ा'

Interview स्टार्स की फिल्मों में हिरोइनें आज भी रिप्लेसेबल हैं- 'प्रियंका चोपड़ा'

Posted by:
Subscribe to Filmibeat Hindi

प्रियंका चोपड़ा को बॉलिवुड की उन एक्ट्रेसे में गिना जाता है जो कि फिल्मों में महज एक शोपीस नहीं बनी रहतीं, बल्कि जो अपने किरदारों व फिल्मो के जरिये समाज को एक नया चेहरा दिखाती हैं, एक नयी सोच, नयी दिखा दिखाती हैं। प्रियंका अगर बड़े बैनर की फिल्मों में नज़र आई हैं तो वहीं वो मैरी कॉम, सात खून माफ जैसी छोटे बजट की फिल्मों का हिस्सा भी रही हैं।

प्रिंयका चोपड़ा की अगली फिल्म दिल धड़कने दो इस शु्क्रवार बॉक्स ऑफिस पर रिलीज हो रही है। उससे पहले फिल्मीबीट के साथ प्रियंका की हुई एक खास मुलाकात की कुछ खास बातें इस तरह हैं-

1. बाजीराव मस्तानी को लेकर प्रियंका ने कई बातें बताईं, फिल्म उनके लिए कितनी मुश्किल है, काशी का किरदार निभाने के लिए उन्होंने क्या क्या किया और बाजीराव मस्तानी उनके करियर के लिए कितनी मह्तवपूर्ण है।

बाजीराव फिल्म मेरे करियर की अब तक की काफी मुश्किल फिल्मों में से है। हालांकि मेरे साथ ऐसा होता नहीं है कि मेरा किरदार मेरे जहन में इस कदर बस जाए उसके अलावा कुछ और सोच ही ना सकूं। बाजीराव ऐसी ही फिल्म है। ये किरदार इतना ज्यादा गंभीर और इमोशनली इतना थका देने वाला है कि शूटिंग के बाद जब मैं बेड पर जाती हूं तो तुरंत ही गहरी नींद आ जाती है। कुछ सोचने या कुछ और करने की हिम्मत ही नहीं रहती।

ये एक ऐसा किरदार है जिसके साथ मैं बिल्कुल भी रिलेट नहीं कर सकती। इस किरदार को मुझे ख्यालों में सोचना पड़ता है। संजय सर की बाजीराव मस्तानी एक कहानी नहीं कविता है। काशी का किरदार इतना ज्यादा इमोशनली मुश्किल है कि मुझे लगता है मेरे करियर के लिए ये एक बहुत ही महत्वपूर्ण फिल्म साबित होगी। ये मेरे अभिनय को और निखारने में मदद करेगी।

गंगाजल के बारे में बात करते हुए प्रियंका ने बताया कि इस फिल्म को लेकर वो कितना उत्साहित हैं।

गंगाजल के बारे में बात करते हुए प्रियंका ने बताया कि इस फिल्म को लेकर वो कितना उत्साहित हैं।

बाजरीवा मस्तानी के बाद गंगाजल 2 मेरे करियर की बहुत ही महत्वपूर्ण फिल्म है। जब प्रकाश जी ने मुझे गंगाजल ऑफर की तो मैं बहुत ही उत्साहित थी। ये आज के समय के हिसाब से काफी गंभीर और महत्वपूर्ण कहानी है।

इसमें वो कुछ दबंग के चुलबुल पांडे जैसा किरदार निभा रही हैं।

इसमें वो कुछ दबंग के चुलबुल पांडे जैसा किरदार निभा रही हैं।

ये एक ऐसी सच्चाई है जिसके बारे में लोग बात करना पंसद नहीं करते, लेकिन ये हमारे समाज में हर जगह हो रहा है। ये सही के लिए एक लड़ाई है। लैंड माफिया, भ्रष्टाचार, किसानों का आत्महत्या करना इन सभी बुराईयों पर आधारित है ये फिल्म। एक महिला पुलिस इन सभी गलत बातों के खिलाफ खड़ी होती है। इस फिल्म को लेकर मैं बहुत ही खुश हूं।

अनिल सर के साथ प्रियंका ने अपने करियर की शुरुआत की थी। अपनी पहली फिल्म प्रियंका ने अनिल कपूर के साथ ही साइन की थी।

अनिल सर के साथ प्रियंका ने अपने करियर की शुरुआत की थी। अपनी पहली फिल्म प्रियंका ने अनिल कपूर के साथ ही साइन की थी।

अनिल सर के बारे में तो क्या कहूं। मैंने अपने अभिनय के करियर की शुरुआत में पहला शॉट अनिल कपूर के साथ ही दिया ता। वो फिल्म सतीष कौशिक जी बना रहे थे। हमने सिर्फ एक सीन ही शूट किया था और उसके बाद फिल्म ही बंद हो गयी। अनिल सर बहुत ही मनोरंजक और मस्ती करने वाले शख्स हैं। वो हमेशा ही पॉजिटिव रहते हैं।

अनिल कपूर आज भी यंग हैं

अनिल कपूर आज भी यंग हैं

आज भी उन्हें देखकर नहीं कह सकते कि वो इतने सालों से इस इंडस्ट्री में हैं। इतने सालों बाद भी वो अपनी एनर्जी से यंग कलाकारों को भी पीछे छोड़ देते हैं। मैं भी कभी कभी काम करते करते थक जाती हूं लेकिन वो कभी नहीं थकते। हमेशा इतनी एनर्जी के साथ सेट पर आते हैं कि आप हैरान रह जाएंगे।

पिछले साल मैरी कॉम, उसके बाद दिल धड़कने दो फिर बाजीराव मस्तानी। एक के बाद एक फिल्में करते रहने से प्रियंका भी थक जाती हैं। खाना खाने तक का वक्त नहीं मिलता।

पिछले साल मैरी कॉम, उसके बाद दिल धड़कने दो फिर बाजीराव मस्तानी। एक के बाद एक फिल्में करते रहने से प्रियंका भी थक जाती हैं। खाना खाने तक का वक्त नहीं मिलता।

मुश्किल तो है एक के बाद एक फिल्में करना। थक जाती हूं, नींद भी नहीं आती, खाना खाने का भी वक्त नहीं मिलता। हालांकि एक तरह से ये अच्छी बात है कि मेरे पास इतना काम है, फिल्में है। ना हों तो मुश्किल होगी। काम के अलावा और कुछ करने का वक्त नहीं मिलता तो ज्यादा परेशान नहीं होती। जहां तक फिल्मों के प्रमोशन की बात है तो मैं उन एक्टरों में से हूं जिन्हें अपनी फिल्में बेचनी और उन्हें प्रमोट करना बहुत पसंद है। लेकिन ये बहुत ही थकान भरा है।

हमारी इंडस्ट्री में हिरोइनों को हीरो के मुकाबले बहुत ही कम महत्व दिया जाता है। जब प्रियंका ने इंडस्ट्री में कदम रखा तो उन्हें काफी कुछ सुनना पड़ा। फैशन ने उनके करियर का रुख ही मोड़ दिया।

हमारी इंडस्ट्री में हिरोइनों को हीरो के मुकाबले बहुत ही कम महत्व दिया जाता है। जब प्रियंका ने इंडस्ट्री में कदम रखा तो उन्हें काफी कुछ सुनना पड़ा। फैशन ने उनके करियर का रुख ही मोड़ दिया।

मैं एक एकेडेमिक बैकग्राउंड से हूं। मेरी पहली कुछ फिल्मों के दौरान निर्माताओं द्वारा मैंने ये सुना की हिरोइनें तो बदली जा सकती हैं। अगर एक एक्ट्रेस ने नहीं किया तो दूसरी ले आएंगे, या नहीं लड़की लॉंच कर देंगे। जब मैंने फैशन फिल्म की उस वक्त लोगों ने मुझे समझाया कि मैं ये गलत कर रही हूं। ऐसी फिल्में एक्ट्रेसेस तब करती हैं जब उनका करियर खत्म हो रहा हो। लेकिन जब मैंने फिल्म कर ली और फिल्म को काफी सराहना मिली तो उन्हीं लोगों ने आकर मुझे बधाई दी।

हिरोइनो को रिस्पेस्ट मिलनी चाहिए

हिरोइनो को रिस्पेस्ट मिलनी चाहिए

मैं चाहती थी कि हमारी इंडस्ट्री में एक्ट्रेसेस का भी महत्व हो। मैं ये नहीं कह रही कि हमें बराबरी करनी है लेकिन हमें कम से कम फिल्मों में एक महत्वपूर्ण और किरदार मिलना चाहिए। मैं लोगों से ये नहीं कहती कि वो महिला प्रधान फिल्में देखे। बस इतना चाहती हूं कि वो अच्छी फिल्में देखें फिर चाहे वो किसी की भी

बड़े बजट की फिल्में कीं ताकि छोटे बजट की फिल्मं कर सकूं

बड़े बजट की फिल्में कीं ताकि छोटे बजट की फिल्मं कर सकूं

मैंने बड़े बजट और बड़े बैनर की फिल्में कीं ताकि मै मैरी कॉम, सात खून माफ जैसी छोटे बजट की फिल्में कर सकूं। मैं खुश हूं कि मैं इस बदलाव का हिस्सा हूं। मैं जानती हूं कि हीरो प्रधान फिल्मों में अभी भी हम लड़कियां बदली जाती हैं और बदली जाती रहेंगी। लेकिन कम से कम हम ऐसी फिल्मों का हिस्सा बन सकते हैं जिनमें अभिनय की कद्र है। मैं खुश हूं कि आज हमारी इंडस्ट्री में एक्ट्रेसेस एक दूसरे से जलने की बजाय उनका साथ दे रही हैं और उन्हें सपोर्ट कर रही हैं। विद्या बालन, दीपिका पादुकोण, कंगना रनौत। हमेशा हम लोगों के बीच कैट फाइट को इश्यू बनाया जाता है। लेकिन हम लड़कियों से ज्यादा लड़कों के बीच प्रतोयोगिता रहती है। अगर उनके बीच ब्रोमेंस हो सकता है तो हम लड़कियों के बीच वोमेंस क्यों नहीं।

English summary
Priyanka Chopra says during Dil Dhadakne Do shoot she was inspired by Anil Kapoor. Priyanka Chopra also talks about Bajirao Mastani and says this movie is one of the toughest movie of her career.
Please Wait while comments are loading...

Bollywood Photos

Go to : More Photos