»   » 'मनहूस' मानी जाती थीं विद्या बालन...12 फिल्मों से हुईं OUT

'मनहूस' मानी जाती थीं विद्या बालन...12 फिल्मों से हुईं OUT

Written by: Utkarsh
Subscribe to Filmibeat Hindi

बेगम जान में अपने दमदार अभिनय किरदार से लोहा मनवाने वाली अभिनेत्री विद्या बालन पहले भी खुद को बेस्ट साबित कर चुकी हैं। अभी लग विद्या की फिल्म डर्टी पिक्चर की तारीफें करते थके नहीं थे कि अब उन्होंने लोगों को बेगम जान के तौर पर अपने बेहतरीन अभिनय का एक और सबूत दिया है।

विद्या इंडस्ट्री की सबसे टैलेंटेड अभिनेत्रियों में गिनी जाती हैं लेकिन क्या आपको पता है विद्या बालन एक समय पर सबसे मनहूस मानी जाती थीं। उन्हें एक साथ 12 फिल्मों से सिर्फ मनहूस मानकर निकाल दिया गया था। जिसके बाद हताश विद्या को फिल्मों से कोई उम्मीद नहीं बची थी।

producers-once-considered-vidya-balan-unlucky

वहीं इतना सब होने के बाद भी विद्या ने हार नहीं मानी और काम खोजती रहीं। स्ट्रगल के दिनों के बीच विद्या को फिल्म परिणीति मिली। ये भी उनके लिए आसान नहीं था। विद्या को इस फिल्म के लिए 40 टेक देने पड़े। मशक्कत भरे ऑडीशन के बाद विद्या को परिणीति के लिए फाइनल किया गया। आगे की स्लाइड में जानें क्यों मनहूस मानी जाती थीं विद्या-

बेगम जान में विद्या बालन

बेगम जान में विद्या बालन

श्रीजीत मुखर्जी की इस पीरियड ड्रामा फिल्म में विद्या ने तवायफों के कोठे की मालकिन का रोल प्ले किया है।

विद्या को कहा गया था 'मनहूस'

विद्या को कहा गया था 'मनहूस'

साल 2000 में मोहनलाल के अपॉजिट विद्या ने मलयालम फिल्म 'चक्रम' साइन की थी। इसके तुरंत बाद उन्हें 12 फिल्में मिली। लेकिन किन्हीं वजहों से 'चक्रम' डिले हुई। इससे पहले मोहनलाल की कोई भी फिल्म डिले नहीं हुई थी। ऐसे में प्रोड्यूसर्स ने विद्या को मनहूस बताया।

हाथ से निकल गईं 12 फिल्में

हाथ से निकल गईं 12 फिल्में

उनके हाथ से पूरी 12 फिल्में भी चली गई। इनमें से कुछ फिल्मों का पहला शूटिंग शिड्यूल भी विद्या पूरा कर चुकी थीं। बावजूद इसके उन्हें रिप्लेस कर दिया गया था।

इस फिल्म के लिए दिए थे 40 स्क्रीन टेस्ट

इस फिल्म के लिए दिए थे 40 स्क्रीन टेस्ट

2005 में आई 'परिणीता' से विद्या ने डेब्यू किया था। 40 स्क्रीन टेस्ट, 17 मेकअप शूट देने के बाद उन्हें 'परिणीता' मिली थी।

कई भाषाएं जानती हैं विद्या

कई भाषाएं जानती हैं विद्या

विद्या की मानें तो वे अपने घर में मलयालम और तमिल की मिक्स भाषा बोलती हैं। हालांकि, वे हिंदी, मराठी, बंगाली और अंग्रेजी भी फर्राटे से बोल सकती हैं।

पापा नहीं चाहते थे एक्टिंग करें विद्या

पापा नहीं चाहते थे एक्टिंग करें विद्या

विद्या के पिता नहीं चाहते थे कि वह एक्टिंग में अपना करियर बनाएं, लेकिन काफी मनाने के बाद वह मान गए और विद्या को फिल्मों में काम करने की इजाजत दे दी।

यहां से की थी शुरूआत

यहां से की थी शुरूआत

फिल्मों में करियर बनाने का सपना देखने वालीं विद्या को 16 साल की उम्र में टीवी शो ‘हम पांच' मिला। ये शो टीवी के इतिहास के सफल सीरियल्स में से एक रहा है। विद्या का ये शो करीब 11 साल तक चला।

90 एड कर चुकी थीं विद्या

90 एड कर चुकी थीं विद्या

पढ़ाई के साथ-साथ उन्होंने ऐड फिल्म्स में भी काम किया। सोशियोलॉजी में मास्टर डिग्री में एनरोल करने से पहले वे लगभग 90 ऐड में काम कर चुकी थीं।

विद्या की फिल्में

विद्या की फिल्में

परिणीता (2005) से डेब्यू करने के बाद विद्या लगे रहो मुन्नाभाई (2006), सलाम-ए-इश्क (2007), हे बेबी (2007), पा (2009), इश्किया (2010), नो वन किल्ड जेसिका (2011), द डर्टी पिक्चर (2011), कहानी (2012), घनचक्कर (2013), शादी के साइड इफेक्ट्स, बॉबी जासूस (2014) जैसी फिल्मों में नजर आईं।

सिद्धार्थ से की शादी

सिद्धार्थ से की शादी

विद्या के पति सिद्धार्थ रॉय कपूर वॉल्ट डिज्नी इंडिया के मैनेजिंग डायरेक्टर हैं। इनकी शादी 2012 में हुई थी। विद्या सिद्धार्थ की तीसरी पत्नी हैं। सिद्धार्थ की पहली पत्नी उनकी बचपन की दोस्त थीं, जिससे उन्हें एक बेटा भी है। वहीं, दूसरी पत्नी टीवी प्रोड्यूसर रह चुकी हैं।

English summary
producers once considered vidya balan unlucky, know why
Please Wait while comments are loading...

Bollywood Photos

Go to : More Photos