»   » Funny Review हमारी अधूरी कहानी-एक मंगलसूत्र की कीमत तुम क्या जानो रुपरेल बाबू

Funny Review हमारी अधूरी कहानी-एक मंगलसूत्र की कीमत तुम क्या जानो रुपरेल बाबू

Posted by:
Subscribe to Filmibeat Hindi

हमारा समाज जितना भी दावा करे कि वो इन रुढ़ियों, परंपराओं से कहीं आगे निकल चुका है लेकिन आज भी हम उसी समाज में रह रहे हैं जहां पर एक स्त्री के गले में मंगलसूत्र और मांग में सिंदूर लगा देने भर से वो किसी और की प्रॉपर्टी हो जाती है। जिसे आज भी शादी के बाद सिर्फ उसके पति को देवता समझने को कहा जाता है।

हालांकि हम लड़कियों को समाज में बराबर का दर्जा देने के बडे़ बडे़ दावे करते हैं लेकिन असल में हम आज भी उसी सोच में जीते हैं और जो सालों पहले हमारी पिछली पीढ़ियों की थी। महेश भट्ट की फिल्म हमारी अधूरी कहानी भी कुछ ऐसी ही परंपराओं का ताना बाना है। यूं तो फिल्म बहुत ही गहरी सोच को लेकर बनाई गयी है लेकिन फिल्म देखते समय आंसू तो आपकी आंखो में होंगे लेकिन दुख के नहीं बल्कि हंसी के।

यानी कि हमारी अधूरी कहानी देखते समय आप रोएंगे या नहीं ये तो नहीं कह सकती लेकिन इतना जरुर है कि आप हंसते हंसते बाहर आएंगे। तो आइये एक नज़र डालते हैं हमारी अधूरी कहानी के इन मजेदार सीक्वेस पर।

मंगलसूत्र की कीमत

मंगलसूत्र की कीमत

फिल्म में विद्या बालन यानी वसुधा अपनी मर्जी से मंगलसूत्र पहनती हैं और मर्जी से उतार देती हैं। जब इमरान उसे प्रपोज करता है तो वो दौड़कर अपना मंगलसूत्र पहन लेती हैं और खुद को एक पतिव्रता मान लेती हैं। ये मंगलसूत्र रुपरेल बाबू को बहुत मंहगा पड़ा। रुपरेल यानी इमरान को ये कहना तो बनता है कि एक मंगलसूत्र की कीमत तुम क्या जानो रुपरेल बाबू।

विद्या बन गयीं बंजारन

विद्या बन गयीं बंजारन

जब पहली बार रुपरेल अपनी मां से विद्या को मिलवाने ले जाता है तो मां का पहला संवाद होता है ये बंजारन कहा मिल गयी तुम्हें। हमेंयकीन है कि आप भी इस संवाद को सुनकर खुद की हंसी नहीं रोक पाएंगे।

कहां गये वो संस्कार वो परंपरा जो तुम्हारी नस नस में डाले थे मैंने

कहां गये वो संस्कार वो परंपरा जो तुम्हारी नस नस में डाले थे मैंने

राजकुमार राव जब विद्या बालन से मिलता है तो इमरान के बारे में जानकर वो विद्या से कहता है ऐसा कैसे कर सकती हो तुम। कहां गये वो संस्कार, वो परंपराएं जो मैंने तुम्हारी नस नस में डाले थे। वाह..संस्कार..अब एक टेरेरिस्ट बताएगा कि संस्कार क्या होते हैं।

सर आपकी फ्लाइट छूट रही है

सर आपकी फ्लाइट छूट रही है

इमरान हशमी के दोस्त के रुप में प्रबल पंजाबी बार बार सिर्फ इमरान को फ्लाइट के लिए लेट होने के लिए तो कभी किसी मीटिंग के लिए तो कभी विद्या के लिए इमरान के प्यार को लेकर एक ही जैसे संवाद बार बार दोहराते दिखे। जैसे ही प्रबल स्क्रीन पर नज़र आए समझ लीजिए हंसने का वक्त आ गया।

108 होटलों के मालिक रुपरेल

108 होटलों के मालिक रुपरेल

डॉन फिल्म में 108 मुल्कों की पुलिस डॉन को ढूंढ रही थी। अब 108 होटलों के मालिक रुपरेल को भी कोई ढूंढ रहा है..जी हां दर्शक जिन्होंने ये फिल्म देखी है। रुपरेल साहब जनता माफ नहीं करेगी।

English summary
Hamari Adhuri Kahani is getting mixed reviews from the critics and also from audience. Here are few scenes from Hamari Adhuri Kahani that will give you laugh out loud moment.
Please Wait while comments are loading...