»   » "मुझे बताया गया था कि सारे कपड़े उतारकर पंखे के नीचे लेट जाओ!"

"मुझे बताया गया था कि सारे कपड़े उतारकर पंखे के नीचे लेट जाओ!"

करण जौहर और उनकी सेक्स लाइफ हमेशा लोगों के लिए चर्चा का विषय रही है। इसलिए कि उन्होंने कभी भी इस पर बात नहीं की। लेकिन इस बार उन्होंने अपनी किताब में खुलकर हर विषय पर बात की है।

Written by:
Subscribe to Filmibeat Hindi

करण जौहर और उनकी बातें हमेशा से बड़ी नपी तुली रहती हैं लेकिन इस बार अपनी किताब एन अनसूटेबल बॉय में उन्होंने अपने आप को पूरी तरह खोल कर रख दिया है। 

और सबसे ज़्यादा बात हो रही है उस बारे में जिस बारे में करण जौहर हमेशा बोलने में हिचकिचा जाते हैं। यानि कि उनकी सेक्स लाइफ और उनका सेक्शुअल झुकाव पुरूषों के प्रति है या औरतों के प्रति। यानि कि एक सीधा सा सवाल - क्या करण जौहर गे हैं?

virginity-sex-trolls-revelations-made-by-karan-johar-in-his-book-an-unsuitable-boy
 

अब करण जौहर ने खुलकर इस सवाल का जवाब अपनी किताब में दिया है। इतना ही नहीं उन्होंने अपनी सेक्स लाइफ के बारे में भी खुलकर बात की है।

लेकिन इस सेक्स लाइफ के बारे में करण ने अकेले बात नहीं की उन्होंने खासतौर से अपनी और शाहरूख खान की सेक्स लाइफ के बारे में बात करते हुए बताया कि लोग उनके बारे में और उन दोनों की सेक्स लाइफ के बारे में क्या क्या बातें पकाते हैं!
["मैं किसी हीरो के साथ सोऊं या हीरोइन के, मेरी पत्नी को फर्क नहीं पड़ता"] 

इसी के साथ करण जौहर ने अपने गे होने पर काफी बात की और इस देश के कानून को दोषी ठहराते हुए कहा कि ज़्यादा बातें करने पर इस देश में जेल हो जाती हैं। 

जानिए करण जौहर ने अपनी सेक्स लाइफ के बारे में क्या क्या खुलासे किए - 
 

पहली बार सेक्स

करण जौहर ने बताया - "मैंने पहली बार सेक्स 26 साल की उम्र में किया। मैं तब न्यूयॉर्क में था। हालांकि मुझे इस बात पर कोई गर्व नहीं है। लेकिन तब तक मैं सेक्स के बारे में बहुत ही कम जानता था"

स्पेशल हैं शाहरूख

मुझे बहुत ही खराब लगता था जब लोग मेरे और शाहरूख के बारे में गंदी बातें लिखते थे। लोग कहते थे कि मैं उनके साथ सोता हूं। और इस बात से मुझे बहुत ज़्यादा फर्क पड़ता था। मुझे बहुत ज़्यादा गुस्सा भी आता था।

अफेयर नहीं तो गे हैं

एक बार मुझे शाहरूख भाई ने समझाया कि लोग जो कहते हैं कहने दो। लोगों के लिए अगर मेरा किसी से शादी के बाहर अफेयर नहीं चल रहा है तो कम से कम मुझे गे ही बना दें। कुछ तो चाहिए ना कहने के लिए। इसलिए लोग फूहड़ बातें करते हैं।

स्कूल में नहीं थी सेक्स एजूकेशन

करण जौहर ने बताया कि स्कूल में मुझे मेरे साथियों ने कहा कि तुम्हें ब्लोजॉब मतलब पता है? मैंने कहा नहीं। उन्होंने बोला कि सारे कपड़े उतारकर पंखे के नीचे लेट जाओ वही होता है। अगले दिन जाकर मैंने कहा कि कल मैंने तीन ब्लोजॉब लिए।

सेक्स से शर्म आती थी

करण ने बताया, "जब मैं बड़ा हो रहा था तो सेक्स के बारे में बात ही नहीं कर पाता था। पहले लगा कि मैं सेक्स से विमुख हूं शायद और इसलिए मेरे दिमाग में बहुत कुछ चलता था लेकिन वो बहुत कुछ मैं किसी से भी शेयर करने में हिचकिचाता था।"

क्या आप अपने भाई के साथ सेक्स करते हैं?

एक बार एक इंटरव्यू में मुझसे कहा गया - अनोखा रिश्ता है आपका और शाहरूख का। मैंने पूछा कि अगर मैं आपसे बोलूं कि क्या आप अपने भाई के साथ हमबिस्तर होते हैं तो क्या आपको अच्छा लगेगा? तो आप मुझसे मेरे भाई के बारे में ऐसे बात कैसे कर सकते हैं।

होमोसेक्शुएलिटी का अगुवा

मैं अब किसी आदमी के साथ अकेले घूमने में डरता हूं। क्योंकि सबको लगेगा कि मैं उसके साथ सो रहा हूं। मैंने आज तक कभी नहीं बताया कि मैं गे हूं कि नहीं हूं। वो मेरा निजी मसला है। मैं इसके बारे में बात करने का हक किसी को नहीं देता। लेकिन मैं गे लोगों का अगुवा हूं इस देश में। लोग मेरे बारे में यही सोचते हैं।

हर सुबह 200 गालियां

हर सुबह जब मैं सोकर उठता हूं तो मेरे ट्विटर पर, फेसबुक पर 200 गालियां लिखी होती हैं। कुछ लोग मुझे समाज के लिए गंदा कहते हैं। कुछ कहते हैं कि मैं धारा 377 को अपने पिछवाड़े में डाल लूं।

परिवार के साथ पर कद्र नहीं

एक बार एक आदमी मेरे पास आया। उसके साथ उसकी पत्नी थी, बच्चे थे पर वो मुझसे पूछ रहा है कि क्या आप गे हैं? मैंने पूछा कि आपको इसमें क्या दिलचस्पी है? तो वो उल्टा मुझपर ही गुस्सा करने लगा।

सब जानते हैं मैं क्या हूं

सबको पता है कि मैं क्या हूं। मुझे चीख चीख कर ये कहने की ज़रूरत नहीं है। मैं ऐसे देश में रहता हूं जहां वो तीन शब्द कहने से मुझे जेल हो सकती है। लेकिन मैंने काफी हिंट दी है। अपनी मां के सामने भी ऐसी बातें की हैं। जिसे दिक्कत हो वो भाड़ में जाए।

English summary
Virginity,sex-trolls- Shocking revelations made by Karan Johar in his book An Unsuitable Boy.
Please Wait while comments are loading...