»   » ऐश्वर्या राय - रणदीप हुडा की सरबजीत के 10 सीन जिन्हें देखकर रूह कांप जाएगी!

ऐश्वर्या राय - रणदीप हुडा की सरबजीत के 10 सीन जिन्हें देखकर रूह कांप जाएगी!

Posted by:
Subscribe to Filmibeat Hindi

सरबजीत का ट्रेलर देखकर फैन्स को लगा है झटका। रणदीप हुडा और ऐश्वर्या राय की बॉन्डिंग ने जहां दिल जीता वहीं सरबजीत की असली कहानी की झलक ने भर रोंगटे खड़े कर दिए हैं। ऐसे में पूरी फिल्म क्या हाल करेगी पता नहीं।

सरबजीत में ऐश्वर्या राय ने फैन्स को डरा दिया है। और फिल्म का ट्रेलर देखकर लग रहा है कि ऐश्वर्या राय कोई ज़ोरदार धमाका करने ही वाली हैं। इस रोल के लिए ऐश्वर्या राय ने काफी मेहनत की है।

कई सीन के लिए ऐश को नंगे पांव गांव में दौड़ना था और सेट पर कंकड़ पत्थर होने के बावजूद उन्होंने सीन वैसे ही शूट करने का मन बनाया जैसे कि लिखा गया है।

इसके पहले भी फिल्म की शूटिंग से कुछ और तस्वीरें भी लीक हुई जहां ऐश्वर्या राय बच्चन स्वर्ण मंदिर, अमृतसर में लंगर सेवा करती दिख रही हैं। ऐश्वर्या राय ने इस सीन के लिए पूरी तैयारी की।

देखिए वो 10 सीन जिन्हें देखकर आप भी कांप जाएंगे - 

हंसता खेलता परिवार

सरबजीत एक किसान था जो गलती से बॉर्डर पार कर के पाकिस्तान पहुंच जाता है। ट्रेलर में उसके थर्ड डिग्री टॉर्चर को देखकर आप सिहर जाएंगे लेकिन फिर तुरंत ही दिखेगा एक हंसता खेलता परिवार जिसे देख आपका दिल बैठ जाएगा।

भाई पर न्योछावर बहन

एक बहन जिसने अपनी सारी ज़िंदगी अपने भाई को वापस घर लेकर आने में निकाल दी। आखिरी बार मिलते समय जब दलबीर अपने भाई से माफी मांगेगी तो आपका दिल भर आएगा। 

असली सरबजीत

फिल्म में पोस्टर असली सरबजीत के इस्तेमाल किए गए हैं और इसके लिए डायरेक्टर की जितनी प्रशंसा की जाए कम है। आपको हर वो खबर याद आ जाएगी जो आपने सरबजीत से जुड़ी पढ़ी और देखी।

जेल का टॉर्चर

हर सीन में में हर सेकंड में पाकिस्तान जेल में हुआ सरबजीत पर टॉर्चर आपको परेशान कर देगा। 

जेल की कोठी

सरबजीत की जेल की कोठरी जहां वो अपने सारे काम करता था। लेकिन अपने पैर तक पूरे नहीं खोल सकता था।

पाकिस्तान में चेकिंग

जासूस करार दिए जाने के बाद किसी तरह सरबजीत का परिवार उससे मिलने पाकिस्तान पहुंचता है तो उनकी चेकिंग इस तरह की जाती है।

एक गैर मुल्क का मसीहा

पाकिस्तान का वकील जब सरबजीत की बहन से आकर मिलता है और कहता है कि इंसानियत का नाता है हमारा पर इन दो देशों को तो उसकी भी मंज़ूरी नहीं है।

एक बहन की हुंकार

किसी हिंदुस्तानी ने पीठ मोड़ना नहीं सीखा, जब दलबीर कौर ये डायलॉग बोलेंगी तो सबके दिल में ये जज़्बात जागेगा ज़रूर।

तिरंगे का हौसला

तिरंगा देखते ही ये हौसला ज़रूर मिलेगा कि शायद कुछ अच्छा हो पर अंत तो सरबजीत का हम सबको पता है।

English summary
10 scenes from Sarbjit which will leave you emotionally drained.
Please Wait while comments are loading...