»   » #HatkeReview: कैसा था फैन का हर किरदार...दो नहीं, तीन शाहरूख के साथ!

#HatkeReview: कैसा था फैन का हर किरदार...दो नहीं, तीन शाहरूख के साथ!

Posted by:
Subscribe to Filmibeat Hindi

शाहरूख खान की फैन रिलीज़ हो चुकी है और ये कहने में कोई गुरेज नहीं है कि फिल्म केवल शाहरूख खान के मज़बूत कंधों पर टिकी थीं और उन्होंने पूरी कोशिश की कि फिल्म को उसका मुकाम मिल जाए।

फिल्म में दो नहीं तीन शाहरूख थे - आर्यन और गौरव के अलावा....गौरव का पागलपन जो सेकंड हाफ में फिल्म का विलेन बनकर आता है। फिल्म फैन्स को काफी पसंद आ रही है। और देखा जाए तो फैन अब तक की सबसे बड़ी ओपनर भी साबित हो सकती है।
[फैन फिल्म रिव्यू - 3.5 स्टार] 

शाहरूख के दोनों किरदारों को जबरदस्त रिस्पॉस मिल रहा है। इस फिल्म से लोगों को उम्मीद ज्यादा इसीलिए भी है क्योंकि पिछले कई सालों से शाहरूख खान ने फैंस को निराश ही किया है। जी हां, हैप्पी न्यू ईयर और दिलवाले जैसी फिल्मों ने शाहरूख फैंस को एक झटका जैसा ही दिया है क्योंकि उन्हें अपने स्टार से बहुत उम्मीदें हैं। 
[ALSO READ: अब तो बस शाहरूख से डर लगता है!] 

लेकिन फैन कमज़ोरियों के बावजूद लोगों के दिलों पर मज़बूत पकड़ बना रही है। जानिए कैसा है फिल्म का हर किरदार -

कैसा है हर किरदार

फैन केवल एक आदमी के इर्द गिर्द घूमती है - शाहरूख खान। फिल्म को बनाते ही वही हैं, बिगाड़ते भी वहीं। बाकी किरदार उनके साथ कदम से कदम मिलाकर मज़बूती से फिल्म कोे बढ़ाते हैं। जानिए कैसा है फैन का हर किरदार।

एक सुपरस्टार

आर्यन खन्ना...एक सुपरस्टार...शाहरूख ने इस किरदार को बखूबी निभाया है। या यूं कहिए कि बस नाम कुछ और है...हैं वो शाहरूख ही...थोड़ा गुस्सा, थोड़ी समझदारी...ढेर सारी अकड़ और ढेर सारा स्टारडम।

एक जबरा फैन

गौरव चांदना...दिल्ली के इंदरपुरी में रहने वाला एक पागल लौंडा...पक्का दिल्ली छाप...अपने स्टार का दीवाना। शाहरूख का ये किरदार जितना सटीक दिखता है उतना है नहीं। कहीं कहीं वो अपने ही फैन के इस किरदार को ज़रूरत से ज़्यादा निभाते नज़र आते हैं।

एक सरफिरा विलेन

गौरव का वो वाला शे़ड जो डर से लेकर बाज़ीगर तक सब कुछ याद दिलाएगा। ये शाहरूख ज़िद्दी है...पागल है और सरफिरा है। उसे जो चाहिए वो उसे हासिल कर के ही छोड़ेगा और शाहरूख का ये पागलपन बखूबी उभर कर आया है।

एक इमोशनल पापा

योगेंद्र टिकू गौरव के पापा के किरदार में परफेक्ट लगे हैं। बेटे को दुकान पर बैठाकर खुश और उसकी फैनडम में अपने भी कुछ अरमान पूरे कर लेने का सपना...एक टिपिकल दिल्ली वाले मिडिल क्लास पापा।

एक स्ट्रॉन्ग मां

जब पापा इमोशनल हों तो मम्मी को स्ट्रॉन्ग बनना ही पड़ता है। दीपिका अमीन भी वैसी हैं। भले ही अपने बेटे की बेवकूफियों को झेलती हैं पर गुस्सा और समझदारी इतनी कि बेटे को 10 साल की जेल देने के लिए तैयार!

एक समझदार दोस्त

सचिन पिलगांवकर और सुप्रिया की बेटी श्रिया पिलगांवकर बॉलीवुड में टिकने आई हैं ये उनके छोटे से किरदार से समझ आ जाता है। गौरव की दोस्त नेहा...जिसे पता है कि उसका दोस्त पागल है पर वो उसे छोड़ नहीं सकती क्योंकि दोस्त जो ठहरी।

एक सुपरस्टार पत्नी

वलूशा डीसूज़ा के हिस्से फिल्म में ज़्यादा कुछ आया नहीं लेकिन जितना है वो परफेक्ट सुपरस्टार वाइफ लगी हैं। और शायद इस किरदार के लिए उन्होंने गौरी खान को फॉलो किया है।

एक इंटेलिजेंट मैनेजर

आर्यन की मैनेजर के रोल में सयानी गुप्ता ने भी कन्विंस किया है। अपने सुपरस्टार की इमेज और कॉरपोरेट के सारे नियम उन्होंने बखूबी निभाए हैं।

 

English summary
Fan Character review: Know each and every character of fan and how they mould the film altogether!
Please Wait while comments are loading...

Bollywood Photos

Go to : More Photos