»   » LEAKED: रूस्तम अक्षय...एक बंदूक...एक पुराना राज़ और खुल गई कहानी!

LEAKED: रूस्तम अक्षय...एक बंदूक...एक पुराना राज़ और खुल गई कहानी!

Posted by:
Subscribe to Filmibeat Hindi

अक्षय कुमार की रूस्तम, बॉलीवुड में पेश करने जा रही है भारत का सबसे बड़ा लव स्कैंडल जो मीडिया का प्यार बन गया। एक पति, जो अपनी पत्नी की शादी कराने के लिए बंदूक चलाने से नहीं डरा। लेकिन तीन गोलियों ने उसकी ज़िंदगी बदल दी।

बॉलीवुड में कुछ कहानियां ऐसी होती हैं जो सच्चाई को सामने लाती है और कुछ कहानियां ऐसी होती हैं जो पुरानी बातें एक बार फिर सबके सामने ले आती हैं। वो बातें जो लोगों के ज़ेहन में होती हैं पर भूल जाते हैं।
[अक्षय कुमार अपकमिंग फिल्में]


1959 नानावटी केस भी एक ऐसा ही लव स्कैंडल था। इस सच्ची कहानी में प्यार है, धोखा है, एक्सट्रा मैरिटल अफेयर है, परिवार है, बेवफाई है, सेक्स है और एक मर्डर जिसके साथ बन गया था सब कुछ सस्पेंस।


हालांकि कई बार इस कहानी को परदे पर पेश किया गया, कभी किताबों में छापा गया लेकिन अब अक्षय कुमार इस कहानी को एकदम धमाकेदार तरीके से लेकर आ रहे हैं जहां एक पति था जो अपनी पत्नी की शादी के लिए सब कुछ हार गया।


जानिए 1959 नानावटी केस की दिलचस्प बातें -

कवास मानेकशॉ नानावटी

कवास मानेकशॉ नानावटी

ये कहानी है कवास मानेकशॉ नानावटी को नेवी में अफसर थे। उनकी उम्र 38 साल थी और उनके परिवार में अंग्रेज़ी मूल की पत्नी सिल्विया और दो बच्चे थे।


एक लव स्कैंडल

एक लव स्कैंडल

नानावटी काम के सिलसिले में अक्सर बाहर रहते थे और इस दौरान उनकी पत्नी मिली आहूजा से जिनके साथ उनके प्रेम संबंध हुए। लेकिन इस बात की भनक नानावटी को नहीं थी।


बीवी ने किया खुलासा

बीवी ने किया खुलासा

एक रात नानावटी के पूछने पर सिल्विया ने कुबूल किया कि वो आहूजा से प्यार करती हैं। इस पर नानावटी ने खुद को मारने का फैसला किया जिससे उनकी बीवी सुकून से रह सके।


आहूजा का कत्ल

आहूजा का कत्ल

इसके बाद नानावटी बीवी और बच्चों को अगले वादे के मुताबिक फिल्म दिखाने ले गए पर खुद वहां से निकल कर आहूजा के घर पहुंचे जो उस वक्त नहाकर निकला था।


दो सवाल - तीन गोलियां

दो सवाल - तीन गोलियां

इसके बाद नानावटी ने आहूजा से पूछा कि क्या तुम मेरी बीवी से शादी करोगे? और क्या तुम मेरे बच्चों का ज़िंदगी भर ख्याल रखोगे? आहूजा का कहना था कि हर औरत उससे प्यार करेगी तो वो सबसे शादी तो नहीं कर सकता और नानावटी ने तीन गोलियां चला दीं।


कर दिया था सरेंडर

कर दिया था सरेंडर

इसके बाद नानावटी ने अपने सीनियर को इसकी इत्तिला दी और पास के पुलिस स्टेशन में सरेंडर कर दिया था। उनके केस पर पूरे देश को तरस आया था। और सबका मानना था कि गोली गुस्से में चली जबकि नानावटी खुद को मारने पहुंचे थे।


दी गई सज़ा

दी गई सज़ा

नानावटी देश को रसूखदार लोगों में थे और पंडित नेहरू से लेकर कई बड़े लोगों की सिक्योरिटी के ज़िम्मेदार थे। उन पर गैर इरादतन हत्या का आरोप लगा और उन्हें जेल भी हुई।


मिली थी माफी

मिली थी माफी

तीन साल बाद उन्हें गवर्नर ने माफ कर दिया और नानावटी, परिवार सहित देश छोड़कर चले गए। उनकी कहानी को राजकपूर ने ये रास्ते हैं प्यार के नाम की फिल्म में उतारा जो फ्लॉप थी। फिल्म में सुनील दत्त मुख्य भूमिका में थे।



दूसरी कोशिश

दूसरी कोशिश

इस कहानी को दोबारा परदे पर गुलज़ार ने उतारा अचानक नाम की फिल्म। हालांकि फिल्म पूरी तरह से इस कहानी पर नहीं बनी थी। हालांकि फिल्म को काफी पसंद किया गया और पूरी फिल्म में सिर्फ एक गाना था।


English summary
1959 Nanavati case story and Bollywood films - Akshay Kumar Rustom and others.
Please Wait while comments are loading...

Bollywood Photos

Go to : More Photos