जीवनी
दिलीप ताहिल एक भारतीय फिल्म अभिनेता हैं।  जो हिंदी सिनेमा में मुख्यतः खलनायक के किरदार की भूमिका में नजर आते हैं।

प्रष्ठभूमि
दिलीप ताहिल का जन्म 30 अक्टूबर 1952 को आगरा उत्तर-प्रदेश में हुआ  था। 

पढाई 
दिलीप ताहिल ने अ[नि शुरुआती पढाई शेरवूड कॉलेज से सम्पन्न की है।  उसके बाद उन्होंने अपनी स्नातक की पढाई अलिघ मुस्लिम यूनिवर्सिटी और सेंट जेवियर कॉलेज से पूरी की है। 

करियर 
दिलीप ताहिल में एक्टिंग का कीड़ा बचपन से ही लग गया था। उन्होंने अपने स्कूली दिनों के दौरान ही नाटको में भाग लेना शुरू कर दिया था। पढाई खत्म होते-होते उन्होंने कई सारे नाटकों में अपना अभिनय प्रदर्शन किया। उन्हें हिंदी सिनेमा में पहला मौका निर्देशक श्याम बेनेगल ने अपनी अंकुर में दिया। इस फिल्म में उन्होंने अछे अभिनय से सबको हैरान कर दिया।  इसके बाद वह मशहूर फिल्म निर्देशक रमेश सिप्पी की फिल्म शान में नजर आये।  उन्होंने हिंदी सिनेमा में अधिकतर खलनायक की भूमिका ही अदा की। उन्होंने अपने हिंदी सिनेमा करियर में तक्रेबं 100 हिट फिल्मो में अब तक काम किया किया। उनकी प्रसिद्ध फ़िल्में कयामत से कयामत तक, बाजीगर, त्रिदेव,किशन कन्हिया, कहो ना प्यार है, डर,इश्क, फिर भी दिल है हिन्दुस्तानी, हम है राही प्यार के, राम लखन, थानेदार। 

टीवी करियर 
ताहिल का हिंदी सिनेमा करियर बेहद शानदार रहा उसके बाद उन्होंने छोटे पर्दे पर भी अपनी किस्मत आजमाई। उन्होंने अपने टीवी करियर की शुरुआत संजय खान के शो टीपू सुल्तान और रमेश सीपी के शो बुनियाद से की थी। दोनों ही शो ने छोटे पर्दे पर काफी सुर्खियाँ बटोरी थीं। 
Buy Movie Tickets