»   » #Hafta: हाउसफुल 3...ब्लॉकबस्टर...ये तो पहले से ही था फाइनल!

#Hafta: हाउसफुल 3...ब्लॉकबस्टर...ये तो पहले से ही था फाइनल!

Written by:
Subscribe to Filmibeat Hindi

हाउसफुल 3 को रिलीज़ हुए एक हफ्ता हो चुका है और फिल्म के धुंआधार कलेक्शन से साफ है कि फिल्म सुपरहिट है। हालांकि ऐसा नहीं है कि फिल्म अचानक से सुपरहिट हो गई। सबको पता था कि फिल्म सुपरहिट होगी। 

इसलिए नहीं कि फिल्म बेहतरीन है या फिल्म में धमाकेदार कॉमेडी थी। ना ही इसलिए कि फिल्म में अक्षय कुमार हैं इसलिए। हाउसफुल 3 कोई सरप्राइज़ हिट भी नहीं है, सबको पता था कि फिल्म सुपरहिट ही होनी है। 

हालांकि फिल्म के ट्रेलर को लेकर मिला जुला रिस्पॉन्स था। लेकिन फिर भी फिल्म तो सुपरहिट। और इसका पूरा श्रेय जाता है फिल्म के डायरेक्टर और प्रोड्यूसर साजिद - फरहाद और साजिद नाडियाडवाला। 

अब फिल्म का अगला टार्गेट है 100 करोड़ क्लब और वर्ल्डवाइड फिल्म ने 100 करोड़ कमा भी लिए हैं। वहीं अब जल्द ही फिल्म का डुमेस्टिक कलेक्शन भी 100 करोड़ हो जाएगा। 

पर कई लोगों ने सवाल उठाया कि हाउसफुल 3 जैसी फिल्म इतना कैसे कमा सकती है। उनके लिए ही हम जवाब लेकर आए हैं कि क्यों पहले दिन से हाउसफुल 3 थी सुपरहिट - 

#1 सुपरहिट प्रमोशन

फिल्म का प्रमोशन आईडिया सुपरहिट हुआ। फिल्म का प्रमोशन जहां भी हुआ, उसके साथ ही सितारे सोशल मीडिया पर भी पूरी तरह से एक्टिव रहे। ऐसे में फिल्म फैन्स से सीधा जुड़ गई।

नो कंपिटीशन

फिल्म को बिल्कुल देखकर रिलीज़ किया गया। पहली बात तो आसपास कोई फिल्म नहीं रिलीज़ हो रही थी और दूसरी बात ये कि जून होते ही लगभग देश की आधी आबादी यानि कि युवा खाली हो जाते हैं।

पागलपन भी ज़रूरी है

हाउसफुल 3 की कॉमेडी किसी की समझ में नहीं आ रही थी सिवाय इसकी स्टारकास्ट के। लेकिन सबने एक दूसरे को बिल्कुल बांध के रखा और एक दूसरे का पंच ही इंजॉय करते रहे।

चलने वाली कॉमेडी

आपको अच्छा लगे या ना लगे। आप भले ही हाउसफुल 3 के जोक्स को ओवर रेटेड और पुराने कहें पर सच तो यही है कि ये चुटकुले लोगों के साथ क्लिक कर गए।

अक्षय कुमार...ब्रांड

अक्षय कुमार एक ब्रांड बन चुके हैं और उनकी कंपनी से निकला माल कभी डिफेक्ट वाला नहीं होगा ये तो उन्होंने हाउसफुल 3 से साबित कर दिया।

सीरीज़ का प्यार

सीरीज़ फिल्में बॉलीवुड में काफी चलती हैं। ज़्यादा या कम, लेकिन इन फिल्मों के लिए दर्शकों का प्यार कभी खत्म नहीं होता। और ये अनुमान हाउसफुल 3 के मामले में बिल्कुल सटीक बैठा।

सूखा था बॉक्स ऑफिस

6 महीने होने को आए यानि कि पूरा आधा साल। लेकिन अभी तक टिकट खिड़की पर कोई लाइट मूड की फिल्म नहीं आई। इसका फायदा हाउसफुल 3 को ज़बर्दस्त तरीके से मिला।

वही फॉर्मूला

साजिद फरहाद ने फिल्म के साथ एक एक्सपेरिमेंट किया कि फिल्म में कुछ ना बदला जाए। जैसी हाउसफुल रहती है वैसी ही फिल्म, वही कन्फ्यूजन, वही दो दो ज़िंदगी वाली कॉमेडी और ये एक्सपेरिमेंट काम कर गया।

कॉमेडी का टॉनिक

फिल्म में जो भी चुटकुला था वो पुराना ज़रूर था पर घिसा पिटा नहीं था। वो उन चुटकुलों से मिलकर बना था जिनका दौर आता था और चला जाता था। जब अचानक से वही चुटकुला लोगों को सुनने को मिला तो उन्हें मज़ा आ गया।

 

English summary
Why Housefull 3 is too close to become a blockbuster.
Please Wait while comments are loading...